राजस्थान के सीकर में गुरुवार को एक मुस्लिम ऑटो चालक को दो लोगों ने बेरहमी से पीटा और “जय श्री राम” और “मोदी जिंदाबाद” के नारे लगाने को मजबूर किया। अपराधियों ने कथित तौर पर ड्राइवर की दाढ़ी खींची, और उसे पाकिस्तान जाने के लिए कहा।

पीड़ित गफ्फार अहमद कच्छवा के अनुसार, सुबह 4 बजे रेलवे स्टेशन पर अपने यात्रियों को उतारते समय, दो अज्ञात लोगों ने उसे रोका और उसे “जय श्री राम” बोलने के लिए मजबूर किया और आगे उसे बेरहमी से पीटा। गफ्फार ने कहा इन दोनों आरोपियों ने उनसे जबरदस्ती घड़ी और पैसे भी छीने।

पुलिस ने सदर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया है। सीकर के स्टेशन हाउस ऑफिसर, सदर पुलिस स्टेशन, पुष्पेन्द्र सिंह ने कहा कि इस मामले में प्राथमिकी दर्ज होने के बाद  हमने कल दो लोगों को गिरफ्तार किया है। जिनके नाम शंभुदयाल जाट और राजेंद्र जाट हैं।

हाल ही में 25 वर्षीय एक व्यक्ति को महाराष्ट्र के ठाणे के दिवा क्षेत्र में कथित तौर पर “जय श्री राम” का उच्चारण करने के लिए पीटा गया, उसके साथ दुर्व्यवहार किया गया। फैज़ल उस्मान खान ने कहा कि जब उसकी टैक्सी टूट गई तो उस पर हमला किया गया और वह उसे ठीक करने की कोशिश कर रहा था। एक यात्री द्वारा पुलिस को फोन करने के बाद हमलावर भाग गए।

इसके अलावाकोलकाता के पूर्वी शहर में, मदरसा के 26 वर्षीय मुस्लिम शिक्षक हाफ़िज़ मोहम्मद शाहरुख हलदार को भी पुरुषों के एक समूह द्वारा ट्रेन में यात्रा करते समय रोका गया था। उनको भी जय श्री राम का जाप करने के लिए मजबूर किया गया था।

पिछले साल सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक भयानक वीडियो में एक मुस्लिम व्यक्ति को एक पोल से बंधा हुआ दिखाया गया था, जो पूर्वी राज्य झारखंड में हिंदू पुरुषों से बनी एक भीड़ द्वारा हमला किया गया था। वीडियो में, 24 वर्षीय तबरेज़ अंसारी को अपने जीवन के लिए खून बहाते हुए देखा गया, उसके चेहरे से खून और आँसू बह रहे थे।हमलावरों ने उन्हें बार-बार “जय श्री राम” बोलने के लिए मजबूर किया।

Loading...
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano
विज्ञापन