जयपुर | शनिवार को मक़र सक्रांति के उपलक्ष में , राजस्थान के शिक्षा मंत्री ने अपने अद्भुत ज्ञान से सबको चौंका दिया. उन्होंने गाय के बारे में ऐसी ऐसी वैज्ञानिक और अध्यात्मिक बाते बतायी जो शायद ही किसी ने आज तक सुनी हो. उन्होंने गाय की महत्ता समझाते हुए कहा की आज कल के युवाओं को आगे आकर, स्वच्छता और ग्लोबल वार्मिंग से लड़ने के लिए गायो की रक्षा और उनका संरक्षण करना चाहिए.

शनिवार को अक्षय पात्र फाउंडेशन की और से हिंगोनिया पुनर्वास केंद्र पर एक कार्यक्रम आयोजित किया गया. इस कार्यक्रम में बोलते हुए राजस्थान के शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी ने गायो के वैज्ञानिक और अध्यातिम्क महत्ता को समझाया. उन्होंने कहा की दुनिया में गाय एक मात्र ऐसा जीव है जो ओक्सिजन ग्रहण करने के साथ ही ओक्सिजन छोड़ता भी है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

देवनानी यही नही रुके उन्होंने अपने अद्भुत ज्ञान से लोगो को यह भी बताया की गाय का गोबर रेडिओएक्टिव तत्वों को बेअसर करने का काम करता है. जबकि यूनाइटेड नेशन फूड एंड ऐग्रिकल्चरल ऑर्गनाइजेशन की 2006 की रिपोर्ट के मुताबिक ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन में कारो से ज्यादा पशुओ और मवेशियों का हाथ है. ग्रीन हाउस गैस ही गोल्बल वार्मिंग के लिए जिम्मेदार मानी जाती है.

देवनानी ने आगे कहा की गाय के उपलों को जलाने से वातावरण में मौजूद खतरनाक माइक्रोऑर्गैनिजम और मच्छरो का खात्मा होता है और आसपास की बदबू खत्म हो जाती है. जिससे आसपास का वातावरण रहने योग्य हो जाता है. यही नही गाय का गोबर खेत में एक बेहतरीन खाद के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है.

देवनानी ने गाय के अध्यात्मिक ज्ञान के बारे में बताते हुए कहा की सर्दी जुकाम की समस्या होने पर गाय के पास जाने से यह मर्ज दूर हो जाता है. शिक्षा मंत्री जी यही नही रुके उन्होंने यह भी बताया की गाय के गोबर में विटामिन बी पाया जाता है. वैसे देवनानी ने इलेक्ट्रिकल ब्रांच में बीई की डिग्री पास की है.

Loading...