Tuesday, July 27, 2021

 

 

 

आरटीआई से खुलासा – मोदी के चाय विक्रेता होने की रेलवे के पास कोई जानकारी नहीं

- Advertisement -
- Advertisement -

आरटीआई के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बचपन में चाय बेचे जाने के दावे को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। रेलवे बोर्ड ने साफ कर दिया कि मोदी के चाय बेचे जाने के सबंध में कोई रेकॉर्ड नही है।

कांग्रेस समर्थक और सामाजिक कार्यकर्ता तहसीन पूनावाला ने आरटीआई के तहत रेलवे बोर्ड से यह जानकारी मांगी थी कि क्या ऐसा कोई रिकॉर्ड, रजिस्ट्रेशन नंबर या नरेंद्र मोदी को स्टेशन या ट्रेन में चाय बेचने के लिए निर्गत आधिकारिक पास उपलब्ध है?

आईएएनएस के अनुसार, इस आरटीआई के जवाब में रेल मंत्रालय ने कहा, “रेलवे बोर्ड के पर्यटन और खानपान निदेशालय की टीजी III ब्रांच में ऐसी किसी तरह की जानकारी उपलब्ध नहीं है।” बता दें कि 2014 के लाेकसभा चुनाव के समय मोदी ने खुद को एक ‘चाय वाला’ बताया था। उन्होंने कहा था कि बचपन में वे स्टेशन पर और ट्रेनों में चाय बेचते थे।

bjp

हाल ही में पीएम मोदी ने एक ट्वीट किया था, “कांग्रेस को अभी भी हैरानी है कि एक चायवाला पीएम बन गया! और, कांग्रेस की पीड़ा का कारण यह भी है कि चार पीढ़ियों ने जो जमा किया था, वो पैसा अब कुछ परिवारों के लिए नहीं, बल्कि जनता के विकास के लिए खर्च हो रहा है।”

ऐसे में अब आरटीआई से साबित नहीं हो पा रहा है कि पीएम मोदी चाय बेचते थे। यदि वह चाय बेचते थे तो सवाल उठता है कि रेलवे प्लेटफॉर्म पर वह अवैध रूप से चाय बेचते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles