Saturday, October 23, 2021

 

 

 

राफेल डील पर संसद में आज राहुल करेंगे सरकार का घिराव

- Advertisement -
नई दिल्ली: आज संसद में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी राफेल डील पर सरकार का गिराव करेंगे. लोकसभा में राफेल डील में घोटाले का आरोप लगाने वाले राहुल ने इस मसले पर लोकसभा में बोलने के लिए स्पीकर सुमित्रा महाजन को लिखित नोटिस भी दिया है. आपको बता दें कि, बजट सत्र का पहला चरण आज ही खत्म हो रहा है और दूसरा चरण 5 मार्च से शुरू किया जाएगा.
- Advertisement -

टाइम्स नाउ के मुताबिक, राहुल ने नियम 357 के तहत स्पीकर को नोटिस देते हुए इस मामले में बोलने की इजाज़त मांगी है. गुरुवार को सदन की कार्यवाही स्थगित होने के बाद राहुल ने कहा था कि यह संसद का नियम है कि जब कोई सदस्य कोई मुद्दा उठाता है तो उसे इसपर बोलने का पूरा मौका मिलना चाहिए. राहुल ने कहा कि, जब मैंने संसद में पर बोलने की कोशिश  की तो सदन की कार्यवाही ही स्थगित कर दी गई.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि सबने पीएम को भ्रष्टाचार के मुद्दे पर वोट दिया था. लेकिन राफेल डील के बारे में पीएम ने चुप्पी साध रखी है. लोकसभा में कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि, ‘नियम 357 के तहत राहुल को बोलने का मौका मिलना चाहिए. हमने इस मामले में लोकसभा स्पीकर को नोटिस दिया है अब वह इस फैसला करेंगी. हम चाहते है कि राहुल को बोलने का मौका मिले.’

राहुल पर पलटवार करते हुए गुरुवार को संसद में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राहुल गांधी को आड़े हाथों लिया और कहा कि इस तरह के आरोप लगाकर वह भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ गंभीर समझौता कर रहे हैं. जेटली ने राहुल को पूर्व रक्षा मंत्री प्रणव मुखर्जी से सीख लेने की नसीहत तक दे डाली. जेटली ने कहा कि, ‘मेरा आरोप है कि राहुल गांधी भारत की सुरक्षा से गंभीर समझौता कर रहे हैं.’ जेटली ने कहा कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार पर भ्रष्टाचार के कई आरोप रहे हैं, ऐसे में अब राहुल को एनडीए सरकार में भ्रष्टाचार तलाशने की कोशिश कर रहे है.

जेटली ने कहा कि, उन्हें कुछ नहीं मिला तो राफेल का मुद्दा उठा रहे हैं. इस बारे में कांग्रेस सांसद शशि थरूर द्वारा सवाल उठाने पर जेटली ने कहा, ‘आपकी पार्टी के अध्यक्ष ने ऐसे आरोप राष्ट्रीय सुरक्षा पर साधें है.’ उन्होंने कहा कि जब प्रणब मुखर्जी रक्षा मंत्री थे, तब उन्होंने राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला देकर अमेरिका से हथियार खरीद की जानकारी सार्वजनिक नहीं की थी. जेटली ने कहा कि ए.के. एंटनी ने भी इजराइल से हथियार खरीद की जानकारी नहीं दी थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles