Friday, June 18, 2021

 

 

 

क्वाड हिंद-प्रशांत क्षेत्र में स्थायित्व का महत्वपूर्ण आधार रहेगा: पीएम मोदी

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली: क्वाड देशों के नेताओं के पहले सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज हमारा एजेंडा वैक्सीन, जलवायु परिवर्तन और उभरती तकनीक जैसे मुद्दे शामिल हैं, जो कि क्वाड को वैश्विक बेहतरी के लिए एक अच्छी ताकत बनाता है। पीएम मोदी ने कहा कि क्वाड हमेशा हिंद-प्रशांत क्षेत्र में स्थायित्व का एक महत्वपूर्ण आधार के रूप में रहेगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं भारत के प्राचीन दर्शन ‘वसुधैव कुटुंबकम’ के प्रसार के रूप में एक सकारात्मक विजन देखता हूं, जो पूरे विश्व को एक परिवार मानने की भावना पर आधारित है. हम सुरक्षित, स्थाई और समृद्ध हिंद-प्रशांत क्षेत्र बनाने के लिए पहले से कहीं ज्यादा करीबी से काम करेंगे।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा- अमेरिका आपके साथ काम करने को प्रतिबद्ध है और क्षेत्र के सभी अपने सहयोगियों के साथ शांति हासिल करने को संकल्पित है। यह समूह खासतौर पर इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि प्रैक्टिकल समाधान और ठोस नतीजे को लेकर समर्पित है।

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने कहा कि 21वीं सदी में दुनिया का भविष्य हिंद-प्रशांत क्षेत्र तय करेगा। उन्होंने आह्वान करते हुए कहा कि आइए, हिंद-प्रशांत क्षेत्र के चार महान लोकतंत्रों के नेताओं के तौर पर हम अपनी भागीदारी को शांति, स्थायित्व और समृद्धता का प्रतीक बनाएं।

क्वाड की बैठक से पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा- “आज शाम को पहले क्वाड नेताओं के वर्चुअल सम्मेलन में शिरकत कर रहे हैं, जिसमें अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मोरिसन और जापान की पीएम सुगा होंगे। यह सम्मेलन क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर हितों को साझा करने का एक अवसर होगा।”

बता दें कि क्वाड सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन, जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन हिस्सा ले रहे हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles