पुडुचेरी: केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में भी दिल्ली जैसे हालत बन गए हैं। पुडुचेरी की उप-राज्यपाल किरण बेदी के खिलाफ मुख्यमंत्री वी नारायणसामी और उनके मंत्री धरने पर बैठ गए हैं। इसके बाद किरण बेदी ने सीएम को पत्र लिखकर कहा है कि सीएम को धरना देने की बजाए मुझसे मिलने के लिए पूछना चाहिए था।

Loading...

मुख्यमंत्री वी नारायणसी ने ट्वीट कर कहा है कि कई मुद्दों को लेकर यह धरना दिया जा रहा है। इसमें हेल्मेट अनिवार्य किए जाने का फैसला भी शामिल है। उनकी केंद्र सरकार से इस फैसले को वापस लेने की मांग है। इसके अलावा एक ट्वीट में, नारायणसामी ने आरोप लगाया कि बेदी ने अभी तक 39 लंबित मुद्दों को हल नहीं किया है जो उठाए गए थे और उन्हें भेजे गए थे, जिसमें फंड जारी करना, वेतन का भुगतान और परियोजनाओं की मंजूरी शामिल है।

विरोध-प्रदर्शन पर किरण बेदी ने ट्वीट किया, ‘आज राज निवास पूरी तरह से सीएम और उनके आंदोलनकारियों से घिरा हुआ था। हम में से कोई भी बाहर नहीं जा सकता था या आगंतुक अंदर नहीं आ सकते थे। साथ ही कर्मचारियों को भी कार्यालय लौटने से रोक दिया गया था। कानून बनाने वाले कानून तोड़ने वाले बन गए।’

वहीं किरण बेदी ने मुख्यमंत्री को एक पत्र भी लिखा है। पत्र में लिखा, ‘आपको अपने पत्र का जवाब मिलने का इंतजार करना चाहिए था लेकिन आप गैरकानूनी तरीके से राज निवास में जवाब मांगने चले आए। आप जिस पद पर हैं, उसके लिए यह तरीका सही नहीं है। आपने पत्र में जो भी मुद्दे लिखे हैं, उनपर विचार करने के बाद जवाब दिया जा सकता है। आपने यह भी जिक्र नहीं किया था कि अगर आपको जवाब नहीं मिलता है तो आप अपने साथियों के साथ धरने पर बैठ जाएंगे। मैं आपसे अनुरोध करती हूं कि 21 फरवरी को विस्तृत चर्चा के लिए आइए।’

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें