नई दिल्ली | सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील और स्वराज अभियान के संस्थापक सदस्यों में से एक प्रशांत भूषण ने रविवार को एंटी रोमियो स्क्वाड की आलोचना करते हुए भगवान् कृष्ण पर विवादित टिप्पणी कर दी. जिसके बाद बीजेपी और कांग्रेस ने इसे मुद्दा बनाते हुए उनके खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज करा दी. हालाँकि प्रशांत भूषण ने अपनी टिप्पणी पर सफाई देते हुए कहा की मेरा इरादा किसी की धार्मिक भावना को आहत करना नही था.

दरअसल उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में मनचलों पर कार्यवाही करने के लिए एंटी रोमियो स्क्वाड का गठन किया है. ये स्क्वाड पूरी सक्रियता के साथ अपना काम कर रहा है. हालाँकि कुछ अधिकारी इसकी आड़ में पॉवर का गलत इस्तेमाल भी कर रहे है. रोजाना प्रदेश से ऐसी खबर सामने आ जाती है जिसमे अधिकारी भाई-बहन को प्रेमी युगल समझ हिरासत में ले लेते है और रिश्वत लेने के बाद उनको छोड़ देते है.

इसलिए विपक्षी दल योगी के इस स्क्वाड की आलोचना भी कर रहा है. इसी क्रम में प्रशांत भूषण ने रविवार को ट्वीट किया,’ रोमियो ने सिर्फ एक महिला से प्यार किया था, जबकि कृष्ण तो ‘‘लेजेण्ड्री ईव टीजर’ थे. क्या आदित्यनाथ में दम है की वो अपने प्रहरी को एंटी कृष्ण स्क्वाड कहे.’ कृष्ण को ईव टीज़र कहने पर विपक्षी दलों ने प्रशांत भूषण की खूब आलोचना की.

बीजेपी प्रवक्ता तेजेंद्र सिंह बग्गा ने दिल्ली के तिलक मार्ग थाने में प्रशांत भूषण के खिलाफ धार्मिक भावनाए भड़काने की शिकायत दर्ज की है. वही कांग्रेस के जीशान हैदर ने लखनऊ में उनके खिलाफ शिकायत दर्ज की. विवाद बढ़ता देख प्रशांत भूषण ने सफाई देते हुए ट्वीट किया,’ रोमियो दस्ते पर मेरे ट्वीट को तोड़ मरोड़कर पेश किया जा रहा है. मेरा इशारा रोमियो स्क्वाड की दलील की और था जिससे भगवान् कृष्ण भी छेड़छाड़ करने वालो की श्रेणी में आ जाते है. मेरा किसी की भी धार्मिक भावनाए भड़काने का कोई इरादा नही था.’

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?