कल्कि भगवान ठिकानों से आयकर के छापों में मिली 500 करोड़ की संपत्ति

8:00 pm Published by:-Hindi News

हैदराबाद। खुद को ‘कल्क‍ि भगवान’ बताने वाले विजय कुमार नायडू के आश्रमों पर इनकम टैक्स ड‍िपार्टमेंट की रेड में 500 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति का पता चला है. बता दें कि  आयकर विभाग ने इस संस्था के 40 ठिकानों पर छापा मारी की थी.

चेन्नै, बेंगलुरु और आंध्र प्रदेश के चित्तूर के साथ-साथ 40 अन्य जगहों पर की गई छापेमारी में आयकर विभाग ने 43.9 करोड़ रुपये, 25 लाख डॉलर और 1271 कैरेट (कीमत लगभग पांच करोड़ रुपये) हीरा बरामद किया गया है. अधिकारियों के मुताबिक, 500 करोड़ रुपये की अघोषित आय की जानकारी भी सामने आई है.

छापेमारी में सामने आया है कि अध्यात्म और दर्शन का ट्रेनिंग प्रोग्राम और कोर्स चलाने वाले यह संस्थान देश और विदेश में भी निवेश कर चुका है। कई कंपनियां चीन, अमेरिका, सिंगापुर और यूएई में भी हैं। इन्हें भारत में होने वाले वेलनेस कोर्सेज के लिए विदेशों से भी पैसे मिलते हैं। आयकर विभाग की ओर से बताया गया कि इस ग्रुप द्वारा टैक्स योग्य आय को डायवर्ट करने की जांच की जा रही है।

विष्णुमूर्ति के दसवें अवतार कल्कि भगवान बताते हुए विजय कुमार 1989 में फिर से चित्तूर में प्रकट हुआ। तत्पश्चात उन्होंने अपने ऑश्रम के कार्यकलापों का विस्तार आंध्र प्रदेश सहित तमिलनाडू में किया। कल्कि भगवान अपने और पत्नी पद्मावती को दैव स्वरूप बताते थे। इन ऑश्रमों में देश के धनी लोगों के अलावा विदेशी और एनआरआई की कतारें लगती थी। कल्कि भगवान के साधारण दर्शन के लिए 5 हजार और विशेष दर्शन के लिए 25 हजार रुपए देने पड़ते थे।

‘कल्कि भगवान’ के साथ उनके बेटे कृष्णा के खिलाफ सैकड़ों एकड़ जमीनों पर कब्जा कर रियल एस्टेट कारोबार करने की शिकायत के बाद 2010 में आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट ने मामले की जांच के आदेश दिए थे।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें