njk

njk

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा से मिलने के लिए पहुंचे प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्र को खाली हाथ लौटना पड़ा है. चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने उनसे मुलाकात करने से इनकार कर दिया.

दरअसल, जस्टिस जे चेलमेश्वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन बी लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसेफ के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा पर लगाए गए आरोपों के बाद नृपेंद्र मिश्रा कृष्णा मेनन मार्ग पर सीजेआई से मिलने पहुंचे थे. इसी बीच, प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा के भारत के मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा से मिलने उनके घर जाने पर कांग्रेस ने सवाल उठाया है.

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा भारत के मुख्य न्यायाधीश के निवास 5-कृष्णा मेनन मार्ग पर गए. प्रधानमंत्री को अपने विशेष दूत को मुख्य न्यायाधीश के घर भेजने का कारण बताना चाहिए.’

इस मामले में अब सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन ने चारों जजों के आरोपों को लेकर शनिवार को मीटिंग बुलाई है.  सुप्रीम कोर्ट के बार एसोसिएशन के प्रेसिडेंट विकास सिंह का कहना है, “अगर उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस की, तो उन्हें कुछ ठोस बातें कहनी चाहिए थी. लोगों के मन में बस आशंका भर देना जूडिशरी के हित में नहीं होगा. इसकी ठीक ढंग से योजना नहीं बनाई गई. उन्होंने ने जस्टिस लोया को लेकर भी कुछ नहीं कहा.”

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?