Tuesday, October 26, 2021

 

 

 

7 दिनों में नहीं बनी सरकार तो महाराष्ट्र में लग सकता है राष्ट्रपति शासन: BJP नेता मुनगंटीवार

- Advertisement -
- Advertisement -

महाराष्ट्र के वित्त मंत्री और भाजपा नेता सुधीर मुनगंटीवार ने शुक्रवार को कहा कि अगर राज्य में सात नवंबर तक नयी सरकार नहीं बनती है तो यहां राष्ट्रपति शासन लागू हो सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार गठन में मुख्य बाधा शिवसेना की ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद की मांग है।

बता दें कि, उनकी यह टिप्पणी तब आई है जब 21 अक्टूबर को हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के आठ दिन बाद भी राज्य में सरकार गठन को लेकर कोई स्पष्ट स्थिति नहीं है। मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल आठ नवंबर को समाप्त होगा।

एक टीवी चैनल से बात करते हुए मुनगंटीवार ने कहा है कि दिवाली के चलते बीजेपी और शिवसेना के बीच बातचीत में देरी हुई है। साथ ही ये भी कहा कि एक-दो दिन में बातचीत शुरू हो जाएगी। मुनगंटीवार ने कहा, ‘‘महाराष्ट्र की जनता ने किसी एक पार्टी को जनादेश नहीं दिया है बल्कि बीजेपी-शिवसेना गठबंधन को जनादेश दिया है। हमारा गठबंधन फेवीकॉल या अंबुजा सीमेंट जैसा मजबूत है।’’

ramna1

गतिरोध की बात स्वीकार करते हुए उन्होंने कहा, ”हम राज्य स्तर पर गतिरोध को तोड़ने के रास्ते तलाशने के लिए साथ बैठेंगे। अगर आवश्यक हुआ तो भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व हस्तक्षेप करेगा।  उन्होंने कहा कि नयी सरकार के गठन पर गतिरोध दूर करने के लिए भाजपा बढ़त हासिल करेगी।

सरकार गठन पर शिवसेना नेता संजय राउत की टिप्पणियों पर प्रतिक्रिया देते हुए मुनगंटीवार ने कहा, ”भाजपा की तरह शिवसेना भी जल्द से जल्द सरकार गठन करना चाहती है। हमने गठबंधन के तौर पर चुनाव लड़ा था। यहां शिवसेना या भाजपा का मुद्दा नहीं है बल्कि महाराष्ट्र के लोगों का मुद्दा है।

बता दें कि महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग हुई थी और 24 अक्टूबर को नतीजों का ऐलान कर दिया गया था। लेकिन सीएम कि कुर्सी को लेकर दोनों दलों में खींचतान जारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles