केंद्र की मोदी सरकार द्वारा मुस्लिम वुमेन (प्रोटेक्शन ऑफ राइट्स ऑन मैरिज) बिल, 2017 लोकसभा से पास कराया जा चूका है. अब सरकार राज्यसभा में इस बिल को पास कराने की कोशिश करेगी. हालांकि राज्यसभा में मोदी सरकार के पास पूर्ण बहुमत नहीं है.

ऐसे में अब ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल बोर्ड ने ट्रिपल तलाक के खिलाफ बड़ा कदम उठाते हुए निकाहनामा में बदलाव करने  फैसला किया है. जिसके तहत निकाहनामा में दुल्हे को लिखकर देना होगा कि वह तीन तलाक नहीं देगा. इसके लिए बोर्ड ने एक मॉडल निकाहनामा भी तैयार किया है.

बोर्ड के प्रवक्ता मौलाना खलीलुर्रहमान नोमानी ने न्यूज एजेंसी पीटीआई को बताया कि एक मॉडल निकाहनामा लाया जा रहा है. नोमानी ने बताया, ‘इस मॉडल निकाहनामे में एक कॉलम और जोड़ा जाएगा. इस कॉलम में लिखा होगा कि मैं तीन तलाक नहीं दूंगा.’

उन्होंने बताया कि निकाह के वक्त ही दुल्हे से इस कॉलम में दस्तखत करा लिए जायेंगे. जिसके बाद वह अपनी बीवी को एक साथ तीन तलाक नहीं दे पायेगा. यानी वह एक बार में तीन तलाक भी देता है तो तलाक नहीं माना जाएगा.

बोर्ड के प्रवक्ता नोमानी ने बताया कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड तीन तलाक के सख्त खिलाफ है. लेकिन कुछ परिस्थिति में इसे मान्यता दी गई है. साथ ही महिलाएं खुद तीन तलाक की अपील करती हैं.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?