कृष्णानगर | पश्चिम बंगाल के नादिया जिले में एक गर्भवती महिला को कुछ गुंडों की ज्यादती का शिकार होना पड़ा. झगडे के दौरान पेट में लात लगने से , गर्भवती महिला के पेट में पल रहा बच्चा, बिना आँखे खोले दुनिया से रुखसत हो गया. इस मामले में पुलिस ने एक बीजेपी नेता समेत पांच लोगो को गिरफ्तार किया है. हालाँकि बीजेपी नेता इसे राजनितिक विद्वेष से की गयी कार्यवाही बता रहे है.

घटना नदिया जिले के तंतला गाँव की है. मिली जानकारी के अनुसार यहाँ के एक घर में कीर्तन चल रहा था. इस दौरान काफी तेज आवाज में कीर्तन किया जा रहा था. जब पड़ोस के ही शम्भू चन्द्र दास उक्त घर में आवाज कम करने का आग्रह करने पहुंचे तो कुछ लोगो से उसकी बहस शुरू हो गयी. कुछ ही देर में वहां काफी लोग इकठ्ठा हो गए और वो मिलकर शम्भू को मारने लगे.

शम्भू को पिटता देख उसकी गर्भवती भाभी भी वहां पहुँच गयी और बीच बचाव करने की कोशिश करने लगी. इसी दौरान झगडा कर रहे किसी शख्स ने गर्भवती महिला के पेट में लात मार दी. जिससे वो चीखते हुए जमीन पर लेट गयी. महिला को तडपता देख कुछ लोगो ने उसे नजदीक के कृष्णानगर अस्पताल पहुँचाया. जहाँ डॉक्टर ने उसके गर्भ में पल रहे बच्चे को मृत घोषित कर दिया.

शम्भू ने बीजेपी प्रधान पलाश कुमार बिस्वास को गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत का जिम्मेदार बताते हुए पांच लोगो के खिलाफ थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई. पुलिस ने बिस्वास सहित पांचो लोगो को हिरासत में ले लिया है. हालाँकि बिस्वास का कहना है की मैं उस समय घटना स्थल पर मौजूद नही था , मुझे तृणमूल कांग्रेस सरकार राजनितिक विद्वेष के कारण फंसा रही है. उधर महिला के पति ने आरोप लगाया की है के मेरी आँखों के सामने बिस्वास ने मेरी पत्नी को लातो से पीटा.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें