Wednesday, August 4, 2021

 

 

 

प्रणब मुखर्जी को मिला भारत रत्न, राहुल गांधी ने जताई खुशी

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली: पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया है। उनके साथ ही सामाजिक कार्यकर्ता और संघ विचारक नानाजी देशमुख और प्रख्यात संगीतकार भूपेन हजारिका को मरणोपरांत इस सम्मान से सम्मानित किया गया है।

प्रणव मुखर्जी भारत के 13वें राष्ट्रपति रह चुके हैं। उन्होंने 25 जुलाई 2012 को राष्ट्रपति पद की शपथ ली थी। वह इस पद पर 25 जुलाई 2017 तक रहे। 1984 में प्रणव मुखर्जी वित्तमंत्री रह चुके थे। नरसिम्हा राव के मंत्रिमंडल में उन्होंने 1995 से लेकर 1996 तक विदेश मंत्री के रूप में काम किया था। प्रणब मुखर्जी को भारत रत्न मिलने पर कांग्रेस समर्थक और कार्यकर्ता भी खुश दिखाई दे रहे हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ”प्रणब दा, भारत रत्न के लिए बधाई। कांग्रेस पार्टी को गर्व है कि जनसेवा एवं राष्ट्र निर्माण में हमारे एक अपने के असीम योगदान को पहचान और सम्मान मिला है।” उन्होंने भूपेन हजारिका और नानाजी देशमुख को भारत रत्न (मरणोपरांत) दिए जाने की घोषणा पर भी खुशी जताई।

वहीं दूसरी और जनता दल (सेकुलर) के नेता दानिश अली ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी नागपुर में आरएसएस मुख्यालय में एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे, इसलिए उन्हें भारत रत्न सम्मान दिया जा रहा है। जेडीएस महासचिव ने मुखर्जी को भारत रत्न दिये जाने और कर्नाटक के सिद्धगंगा मठ के शिवकुमार स्वामी को यह सम्मान नहीं दिये जाने पर भी ऐतराज जताया।

उन्होंने कहा, ‘प्रणब मुखर्जी को भारत रत्न इसलिए दिया जा रहा है क्योंकि वह संघ मुख्यालय गये और संघ के संस्थापक सरसंघचालक के बी हेडगेवार को ‘धरती का पुत्र’ बताया था।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles