केंद्र की मोदी सरकार द्वारा लोकसभा में मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक (ट्रिपल तलाक) को पारित कर दिया. इस विधेयक को कांग्रेस सहित विपक्ष ने शर्तों के साथ अपना समर्थन दिया.

कल्कि पीठाधीश्वर आचार्य प्रमोद कृष्णम ने विपक्ष के इस कदम की तीखी आलोचना करते हुए कहा कि तीन तलाक़ के बहाने सरकार ने “शरीयत” को बदल दिया,और पूरा विपक्ष “शिखंडियों” की तरह “ताली” बजाता रहा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कांग्रेस के सांसदों से राज्यसभा में इस बिल का विरोध करने की अपील की उन्होंने गुलाम नबी आजाद और अमहद पटेल से बिल का विरोध करने की अपील की.

ध्यान रहे ये बिल मंगलवार को राज्यसभा में पेश होना है. हालांकि कांग्रेस इस बिल को पहले ही समर्थन दे चुकी है. पार्टी प्रवक्‍ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा ‘यह महिला के अधिकारों की सुरक्षा के लिए उठाया गया आवश्‍यक कदम है. पार्टी तीन तलाक पर प्रतिबंध लगाने वाले कानून का समर्थन करती है. हमारा मानना है कि इस कानून को मजबूत बनाने की सख्‍त जरूरत है. हमारे पास इसे मजबूत बनाने के लिए कुछ सुझाव हैं.‘

Loading...