कोरोना संकट पर पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को देशवासियों से अपील करते हुए कहा- 5 अप्रैल को रात 9 बजे घर की लाइट बंद कर बालकनी में आकर 9 मिनट तक दीया, मोमबत्ती या मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाने की अपील की है। पीएम मोदी की इस अपील पर पॉवर कंपनियों के हाथ पैर फुले हुए है।

दरअसल, एक साथ पूरे देश में घरों की बिजली 9 मिनट तक बंद होने और एक साथ चालू होने से नेशनल ग्रिड फ़ेल हो सकता है। ऐसे में अब नेशनल ग्रिड ऑपरेटर पावर सिस्टम ऑपरेशन कॉरपोरेशन लिमिटेड (POSOCO) ने बिजली की खपत में उतार-चढ़ाव की समस्या से बचाव पर केंद्र, राज्यों और क्षेत्रीय स्तर के लोड डिस्पैच सेंटर्स को 30 पॉइंट की गाइडलाइन जारी की है। इसका मकसद लोड में अचानक आने वाली आकस्मिक कमी को स्थिर करना है।

इसके अलावा कई थर्मल पावर प्लांट्स के आउटपुट को घटाया गया है और हाइड्रो और गैस स्टेशनों के आउटपुट पर निर्भरता बढ़ाई गई है। इसके अलावा कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को भी तैयार रहने के निर्देश दे दिए हैं। ताकि किसी भी तरह की गड़बड़ी पर आकस्मिक कदम उठाए जा सकें।

उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत परिषद अभियंता संघ के केंद्रीय अध्यक्ष इं. जीके मिश्र व ओबरा पिपरी क्षेत्र के क्षेत्रीय सचिव इं अदालत वर्मा ने कहा है कि एक साथ पूरे देश में घरों की बिजली 9 मिनट तक बंद होने और एक साथ चालू होने से नेशनल ग्रिड पर असर पड़ सकता है। इसलिए सावधानी बरतना जरूरी है। लोग लाइट आफ करने के दौरान फैन, टीवी, फ्रीज, एसी, कूलर न बंद करें। और लाइट एक साथ नहीं कुछ अंतराल पर क्रम से आन करें।

पदाधिकारियों ने कहा है कि अगर नौ मिनट के लिए पूरे देश के सभी घरों की लाइट एक साथ बंद कर दी तो पूरी ग्रिड के ओवर फ्रीक्वेंसी पर असर होगा। इसका मतलब यह है कि 50 हर्ट्स से ज्यादा का जेनरेटिंग सिस्टम ट्रिप कर सकता है। इनका कहना है कि जुलाई 2011 में एक बार ऐसा हो चुका है, जब पूरे भारत में ग्रिड फेल हो गया था। पश्चिमी ग्रिड को छोड़कर, बाकी भाग में अंधेरा हो गया था और लगभग तीन दिन तक लगातार मशक्कत के बाद स्थिति ठीक हुई थी।

उन्होने कहा कि ग्रिड फ्रीक्वेंसी पूरे भारत में 50 हर्ट्स है। न्यूनतम 48.5 हर्ट्स और अधिकतम 51.5 हर्ट्स तक के वेरिएशन को ग्रिड रीस्टोर कर लेता है परंतु इसके बाहर की फ्रीक्वेंसी पर नहीं। हमारे पॉवर ग्रिड सिस्टम में अचानक बिजली का लोड हटने पर फ्रीक्वेंसी बढ़ती है और अचानक लोड बढ़ने पर फ्रीक्वेंसी घटती है। भारत में इस समय सभी पॉवर प्लांट अपनी पूरी क्षमता के 77 प्रतिशत कम क्षमता पर काम कर रहे हैं, क्योंकि इस समय सब कुछ बंद है। सिर्फ घरेलू लोड है। अगर लोड और कम हुआ तो ग्रिड फेल हो सकता है।

उन्होंने कहा कि ग्रिड के मद्देनजर सभी देशवासियों से अपील है कि पॉवर अचानक डिप में न जाए, इसके लिए लाइट के अलावा फैन, टीवी, फ्रीज, एसी, कूलर इत्यादि उपकरण बंद न करें। समयावधि से 15 से 20 मिनट पहले से ही एक- एक करके लोड ऑफ करें। इन पदाधिकारियों ने यह भी कहा है कि कोई भी व्यक्ति या जनप्रतिनिधि किसी फीडर को शटडाउन करने के लिए विद्युत कर्मचारी पर दबाव न डालें।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन