Tuesday, August 3, 2021

 

 

 

पिछले 40 सालों में देश में दोगुनी से भी ज्यादा हुई हिंदुओं की आबादी: मोदी सरकार

- Advertisement -
- Advertisement -

गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर द्वारा लोकसभा में दी गई जानकारी से खुलासा हुआ हैं कि पिछले 40 सालों में देश में हिंदुओं की जनसंख्या दोगुनी से भी ज्यादा हुई.

गृह राज्य मंत्री के अनुसार, हिंदुओं की आबादी 1971 में 45.33 करोड़ थी, जो 2011 में बढ़कर 96.22 करोड़ हो गई. हालंकि कुल आबादी में हिंदू जनसंख्या में उनका हिस्सा घट गया. 1971 में हिंदुओं की कुल जनसंख्या 82.7 प्रतिशत थी जो 2011 में 79.8 प्रतिशत रह गई.

इस दौरान सरकार की और से पिछली पांच जनगणनाओं के आधार पर हिन्दुओं की आबादी बताई गई जो इस प्रकार हैं

  • जनगणना-1971: कुल आबादी 54.79 करोड़, हिंदू 45.33 करोड़ (82.7%)
  • जनगणना-1981: कुल आबादी 66.53 करोड़ , हिंदू 54.98 करोड़ (82.6%)
  • जनगणना-1991: कुल आबादी 83.86 करोड़, हिंदू 68.76 करोड़ ( 82.0%)

याद रहे हाल ही में 13 फरवरी को केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरेन रिजिजू ने भारत में हिंदू आबादी के कम होने का दावा किया था. इसके लिए उन्होंने तर्क दिया था कि ‘हिन्दू कभी भी लोगों का धर्म परिवर्तन’ नहीं कराते जबकि कुछ अन्य देशों के विपरीत हमारे यहां अल्पसंख्यक फल फूल रहे हैं.’

महापंजीयक और जनगणना आयुक्त द्वारा जारी 2011 के धार्मिक जनगणना डाटा के अनुसार देश में 2011 में कुल जनसंख्या 121.09 करोड़ थी। इसमें हिंदू जनसंख्या 96.63 करोड़ (79.8 फीसद), मुसलिम आबादी 17.22 करोड़ (14.2 फीसद), ईसाई 2.78 करोड़ (2.3 फीसद), सिख 2.08 करोड़ (1.7 फीसद), बौद्ध 0.84 करोड़ (0.7 फीसद), जैन 0.45 करोड़ (0.4 फीसद) और अन्य धर्म और मत (ओआरपी) 0.79 करोड़ (0.7 फीसद) रही.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles