pfi

pfi

झारखंड की बीजेपी सरकार द्वारा पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) पर लगाए प्रतिबंध के खिलाफ देश भर में विरोध-प्रदर्शन शुरू हो गए है.

राज्य की रघुवर सरकार ने आईएसआईएस से कथित रिश्तों को लेकर पीएफआई पर प्रतिबंध लगाया है. सरकारी बयान में बैन को लेकर कहा गया, “आपराधिक कानून संशोधन अधिनियम 1908 के तहत राज्य ने झारखंड में सक्रिय पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया पर प्रतिबंध लगा दिया है. गृह विभाग ने इस प्रतिबंध की संस्तुति की थी.”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

pfi1

बयान में कहा गया है, “पीएफआई पाकुड़ जिले में काफी सक्रिय है. केरल में गठित पीएफआई के सदस्य आईएस से प्रभावित हैं. गृह विभाग की रपट के मुताबिक, पीएफआई के कुछ सदस्य केरल से सीरिया गए थे और आईएस के लिए काम किया था.”

बैन के खिलाफ राजधानी दिल्ली में झारखंड भवन तक मार्च निकाला जिसमें पुरुषों के साथ ही महिलाओं ने भी हिस्सा लिया. मणिपुर, पश्चिम बंगाल, बिहार, असम, आंध्र प्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, तेलंगाना, गोवा, कर्नाटक, पांडिचेरी, तमिलनाडु और केरल आदि में भी विरोध-प्रदर्शन आयोजित हुए.

goa

बैन को लेकर पीएफआई ने कहा, पिछले छह महीनों से, पीएफआई राज्य में भीड़-विरोधी और गाय के नाम पर मारे गए लोगों को कानूनी और अन्य सहायता प्रदान कर रही है. इसलिए सरकार ने संगठन को प्रतिबंधित किया है. हम ऐसे लोगों के खिलाफ लड़ रहे जो हमारे समाज के सामाजिक रूप से विचलित करने की कोशिश करते हैं. जिसे सरकार बर्दाश्त नहीं कर पा रही.

Loading...