Wednesday, August 4, 2021

 

 

 

झारखंड: तबरेज अंसारी केस में आरोपियों से पुलिस ने हटाया मर्डर केस

- Advertisement -
- Advertisement -

सरायकेला-खरसांवा में बाइक चोरी के आरोप में की गई तबरेज अंसारी की ह’त्या के मामले में नया मोड़ आ गया है. पुलिस ने इस केस की चार्जशीट से हत्‍या की धारा को हटा लिया है। पुलिस ने आईपीसी की धारा 302 के तहत 11 आरोपियों पर दर्ज मामले को खारिज कर दिया है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट का हवाला देते हुए कि कहा गया है कि अंसारी की दिल का दौरा (कार्डियक अरेस्ट) से मृत्यु हुई और यह कहा गया है कि यह पूर्व नियोजित हत्या का मामला नहीं है। गौरतलब है कि पुलिस ने पिछले महीने चार्जशीट में धारा 304 के तहत मामला दर्ज किया था। पुलिस ने इससे पहले अंसारी की पत्नी की शिकायत पर दर्ज एफआईआर में आरोपियों पर हत्या का आरोप लगाया था।

इस मामले को लेकर सरायकेला-खरसावां के एसपी कार्तिक एस ने कहा कि हमने दो कारणों से आईपीसी की धारा 304 के तहत आरोप पत्र दायर किया। पहली वजह यह है कि वह (तबरेज अंसारी) मौके पर नहीं मरा। ग्रामीणों का अंसारी को मारने का कोई इरादा नहीं था।

इस बात पर तबरेज के परिवार और उनके वकील का कहना ये है कि जब तबरेज को भीड़ ने घंटों पीटा, तो अब पुलिस ये क्यों कह रही है कि हत्या का दोषी कोई नहीं है। गौरतलब है कि 18 जून को धातकीडीह गांव में भीड़ ने अंसारी को एक पोल से बांध दिया, उस पर चोरी का आरोप लगाया और उसके साथ मारपीट की। उसे कथित तौर पर जय श्री राम और जय हनुमान बोलने के लिए मजबूर किया।

लगातार सात घंटे तक पिटाई के बा फिर उसे पुलिस के हवाले कर दिया गया। इसके बाद गंभीर रूप से घायल अंसारी को जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने उसे ‘फिट टू मूव’ घोषित करके जेल भेजने की मंजूरी दे दी। अंसारी के सिर पर गंभीर चोटें आईं थीं। चार दिन बाद जब अंसारी की हालत और खराब हो गई तो उसे अस्पताल ले जाया गया, लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles