जम्मू-कश्मीर पुलिस ने सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वाले कई लोगों के खिलाफ कठोर गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम (UAPA) के तहत केस दर्ज किया है। दरअसल, करीब दो दिन पहले अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी का एक वीडियो वायरल हुआ था। जिसमे कथित तौर पर उनके बीमार होने के बारे में जानकारी दी गई थी।

पुलिस ने एक बयान जारी कर बताया, ‘सोशल मीडिया के दुरुपयोग पर गंभीरता से संज्ञान लेते हुए साइबर पुलिस स्टेशन (कश्मीर जोन, श्रीनगर) ने विभिन्न सोशल मीडिया यूजर्स के खिलाफ केस दर्ज किया है। इन लोगों ने सरकारी आदेश की अवहेलना की और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का दुरुपयोग किया।’

पुलिस बयान में आगे कहा गया, ‘अलग-अलग वीपीएन के इस्तेमाल से उपद्रवियों द्वारा सोशल मीडिया पोस्टों का संज्ञान लेते हुए एफआईआर दर्ज की गई है। ये लोग कश्मीर घाटी के वर्तमान सुरक्षा परिदृश्य के संबंध में अफवाह फैलाने, अलगाववादी विचारधारा का प्रचार करने और आतंकी कृत्यों/आतंकवादियों का महिमामंडन करने में शामिल हैं।’

पुलिस बयान में आगे कहा गया, ‘उपद्रवियों द्वारा सोशल मीडिया साइटों के दुरुपयोग की लगातार खबरें मिली हैं कि वे अलगाववादी विचारधारा का प्रचार करते हैं और गैरकानूनी गतिविधियों को बढ़ावा देते हैं।’ इसमें कहा गया कि सोशल मीडिया एक पसंदीदा प्लेफॉर्म बना हुआ है जो यूजर्स को काफी हद तक गुमनामी प्रदान करता है और व्यापक पहुंच भी देता है। इस संबंध में बहुत सारी गैरकानूनी सामग्रियां बरामद की गई हैं।

दूसरी और सैयद अली शाह गिलानी की सेहत पहले से बेहतर बताई जा रही है। एसकेआईएमएस अस्पताल के एक वरिष्ठ चिकित्सक ने कहा, ‘‘ उनकी हालत अब स्थिर है, उनकी छाती में अब भी संक्रमण है। हालांकि वह ठीक हो रहे हैं और पहले से बेहतर हैं।’’

उन्होंने कहा कि चिकित्सकों की एक टीम ने शनिवार को गिलानी के स्वास्थ्य की जांच की थी। चिकित्सक ने कहा, ‘‘ जीएमसी श्रीनगर के चेस्ट मेडिसन के डॉक्टर नवीद की सलाह पर वह तरल पदार्थ और दवाइयों पर हैं। ’’

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन