Tuesday, August 3, 2021

 

 

 

ट्विटर पोस्ट को लेकर Amnesty India के पूर्व प्रमुख के खिलाफ दर्ज की एफ़आईआर

- Advertisement -
- Advertisement -

अमेरिका की तर्ज पर भारत में भी विरोध प्रदर्शन की वकालत करने पर एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया के पूर्व कार्यकारी निदेशक आकार पटेल के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज किया गया है। बेंगलुरु में जेसी नगर पुलिस स्टेशन में उनके ख़िलाफ़ दो जून को एफ़आईआर दर्ज की गई।

पुलिस का आरोप है कि ट्विटर पोस्ट के जरिए उन्होंने लोगों को सरकार के खिलाफ भड़काने का कथित तौर पर प्रयास किया। जे सी नगर थाने के पुलिस निरीक्षक द्वारा की गई शिकायत के बाद एक मामला दर्ज किया गया। इसमें आरोप लगाया गया कि पटेल द्वारा ट्विटर पर डाला गया पोस्ट भड़काऊ था।

आकार पटेल ने कोलाराडो टाइम्स रिकॉर्डर का एक वीडियो क्लिप पोस्ट किया था। इस वीडियो में दिख रहा है कि हज़ारों लोग कोलाराडो के कैपिटोल बिल्डिंग के पास काले अमरीकी नागरिक जॉर्ज फ़्लॉयड की हत्या के ख़िलाफ़ विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं।  इस वीडियो को ट्वीट करते हुए आकार पटेल ने लिखा था, ”दलितों, मुसलमानों, आदिवासियों, ग़रीबों और महिलाओं की तरफ़ से भारत में ऐसे ही प्रदर्शन की ज़रूरत है। दुनिया का ध्यान खींचेगा।”

आकार पर पुलिस ने आईपीसी की धारा 505(1)(b), 153 और 117 के तहत दंगे भड़काने और सार्वजनिक क्षति भड़काने के लिए केस दर्ज किया है। एम्नेस्टी इंटरनेशनल इंडिया ने आकार पटेल के समर्थन में बयान जारी करते हुए कहा कि पुलिस की एफआईआर बताती है कि देश में किस तरह मतभेद रखने का अधिकार अपराध कहा जाने लगा है।

एजेंसी ने कहा कि बेंगलुरु पुलिस को अपनी ताकत का इस्तेमाल बंद करना चाहिए और आकार पटेल को डराने या उनके उत्पीड़न की कोशिश को रोकना चाहिए। उन्होंने जो भी किया अपनी अभिव्यक्ति की आजादी के तहत किया, जिसका अधिकार उन्हें संविधान ने दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles