Tuesday, January 25, 2022

कमलेश तिवारी केस में पुलिस ने बरामद किए आरोपियों के कपड़े और सामान

- Advertisement -

कमलेश तिवारी मामले को उत्तर प्रदेश पुलिस ने रविवार को लखनऊ के नाका इलाके में स्थित एक होटल से आरोपियों के खून से सने भगवा कपड़े बरामद किए हैं।  बताया जा रहा है कि 17 अक्टूबर को आरोपियों ने होटल में कमरा लिया था। वहीं, 18 अक्टूबर को वारदात को अंजाम देने के बाद होटल में जाकर आरोपियों खून से सना हुआ कुर्ता बदला था, जिसे पुलिस ने आज बरामद कर लिया है।

मौके पर फोरेंसिक टीम कपड़ों की जांच कर रही है. पुलिस के मुताबिक, होटल के कमरे से भगवा कपड़े के अलावा मोबाइल फोन, सेविंग किट और आरोपियों के बैग बरामद किए गए हैं।

वारदात के बाद दो संदिग्ध आरोपियों का सीसीटीवी फुटेज पुलिस के हाथ लगी है। जिसमे आरोपियों ने भगवा कपड़े पहने हुए है पुलिस का कहना है कि वारदात को कमलेश तिवारी के ही किसी परिचित ने अंजाम दिया है। वारदात को अंजाम देकर आरोपी फरार हो गया है।

हालांकि इस मामले में गुजरात से तीन और यूपी से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। यूपी के बिजनौर के दो मौलानाओं की भी भूमिका की जांच की जा रही है। वर्ष 2015 में इन दोनों मौलानाओं ने कमलेश तिवारी का सिर कलम करने वालों को डेढ़ करोड़ रुपये इनाम देने की घोषणा की थी।

वहीं कमलेश तिवारी की माँ ने सीधे तौर पर अपने बेटे की ह*त्या के मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जिम्मेदार बताया है। ABP न्यूज़ के अनुसार, उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ मेरे बेटे से जलते थे, उसकी पार्टी से जलते थे। उनका कहना है कि योगी सरकार की लापरवाही से कमलेश की ह*त्या हुई। उन्होंने यहां तक कहा कि योगी ने कमलेश को मरवा दिया।

सीएम के साथ साथ उन्होंने पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि नाका पुलिस की मिलीभगत से इस हत्या को अंजाम दिया गया। कुसुम तिवारी ने कहा कि योगी आदित्यनाथ ने कमलेश की सुरक्षा घटा दी। अखिलेश सरकार में 17 सुरक्षाकर्मी दिए गए थे और योगी सरकार में 4। उनका कहना है कि वारदात के वक्त एक भी सुरक्षाकर्मी वहां मौजूद नहीं था। एक सुरक्षाकर्मी नीचे की तरफ था जो बुजुर्ग है।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles