देश की राजधानी में सीएए विरोधी प्रदर्शनों के दौरान हुई मुस्लिम विरोधी हिंसा के मामले में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद से दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने पूछताछ की है।

बल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने शुक्रवार को दंगों के पीछे एक कथित साजिश के सिलसिले में खालिद से पूछताछ की। उनका मोबाइल फोन भी पुलिस ने जब्त कर लिया है।” स्पेशल सेल ने उमर खालिद से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे से पहले दिए गए उसके भाषण को लेकर भी सवाल पूछे।

विशेष सेल के मुताबिक उमर खालिद को अपने ऑफिस में जांच के लिए बुलाया गया था। हालांकि खालिद से क्या पूछताछ की गई, फिलहाल इस बारे में जांच का हवाला देते हुए पुलिस ने कुछ भी बताने से इनकार कर दिया।  विशेष सेल के मुताबिक जेएनयू के पूर्व छात्र को कुछ दिन पहले ही जांच में शामिल होन के लिए नोटिस भेजा गया था।

इससे पहले, खालिद के खिलाफ गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) के तहत मामला दर्ज किया गया था। पुलिस ने प्राथमिकी में दावा किया है कि सांप्रदायिक दंगे ‘पूर्व निर्धारित साजिश’ के तहत भड़काए गए थे जिसे कथित तौर पर खालिद और दो अन्य लोगों ने मिलकर रचा था। खालिद ने कथित रूप से दो अलग-अलग स्थानों पर भड़काऊ भाषण दिया था।

खालिद ने कथित रूप से दो अलग-अलग स्थानों पर  भाषण दिया था और लोगों से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के भारत दौरे के दौरान सड़कों पर आने और सड़कों को अवरुद्ध करने की अपील की थी ताकि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लोगों को पता चले कि देश में अल्पसंख्यकों के साथ कैसा व्यवहार किया जा रहा है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन