मुरादाबाद | उत्तर प्रदेश में योगी सरकार अवैध बूचड़खानों के खिलाफ काफी कड़ी कार्यवाही कर रही है. पुरे प्रदेश में अवैध बूचड़खानों को बंद कराने का एक अभियान छिड़ा हुआ है जिससे न केवल मीट व्य्वापरी बल्कि मांसाहार का सेवन करने वाले लोगो को भी काफी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है. यहाँ तक की अब शादी समारोह में भी इसका असर दिखना शुरू हो गया है.

एएनआई की खबर अनुसार मुरदाबाद में एक परिवार को पुलिस ने शादी में बीफ परोसने की इजाजत नही दी है. पुलिस का कहना है की केवल चिकेन परोसा जा सकता है. हालाँकि इस बारे में परिवार ने पुलिस ने लिखित में इजाजत मांगी थी लेकिन उन्होंने परमिशन देने से मना कर दिया. पुलिस के इस कदम के पीछे बूचड़खानों पर हो रही कार्यवाही को माना जा रहा है.

दरअसल मुरादाबाद के रहने वाले सरफराज की कुछ दिनों बाद सगाई है. सगाई में उन्होंने बीफ परोसने का फैसला किया था लेकिन इसी दौरान बूचड़खानों पर कार्यवाही शुरू हो गयी. इसलिए सरफराज ने इसके लिए पुलिस से इजाजत लेने का मन बनाया. एएनआई से बात करते हुए सरफराज ने कहा की हमने इसके लिए पुलिस से लिखित में इजाजत मांगी थी.

सरफराज ने आगे बताया की पुलिस ने सगाई में बीफ का इस्तेमाल करने की इजाजत नही दी है. पुलिस ने केवल चिकन परोसने की इजाजत दी है. मालूम हो की योगी सरकार बनने के बाद प्रदेश के सभी अवैध बूचड़खानों को बंद कराने का आदेश दिया गया है. सरकार के आदेश के खिलाफ प्रदेश भर के मीट व्यापारी हड़ताल पर चले गए है. हालाँकि सरकार का कहना है की केवल अवैध बूचडखानो पर कार्यवाही की जा रही है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?