Thursday, August 5, 2021

 

 

 

जामिया मार्च पर पुलिस का लाठीचार्ज, लड़कियों ने लगाया प्राइवेट पार्ट पर…..

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली: जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के छात्रों की और से निकाले गए CAA विरोधी मार्च पर दिल्ली पुलिस ने एक बार से बर्बरता दिखाई है। पुलिस और प्रदर्शनकारी छात्रों के बीच हुई झड़प में 27 लोग जख्मी हो गए। घायलों को अल शिफा हॉस्पिटल में आईसीयू में भर्ती किया गया है।

इसी बीच कुलपति नजमा अख्तर (Najma Akhtar) देर रात अल शिफा अस्पताल (Al Shifa Hospital) पहुंची है। यहां उन्होंने प्रोटेस्ट में घायल छात्रों से मुलाकात की। जामिया  की छात्राओं का आरोप है कि प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की और प्राइवेट पार्ट्स पर मारा।

जामिया हेल्थ सेंटर के डॉक्टर का कहना है कि जामिया की छात्रों को प्राइवेट पार्ट्स में चोट लगी है, जिसके चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अस्पताल के डॉक्टर का कहना है कि कुछ छात्राओं की गंभीर चोटें आई हैं, जिसके चलते उन्हें अल-शिफा अस्पताल में शिफ्ट किया गया है।

छात्राओं का आरोप है कि पुलिस ने लाठी से उनके सीने पर भी मारा है। एक छात्रा ने आरोप लगाया है कि एक पुलिसकर्मी ने उसका बुर्का हटाया और लाठी से उसके प्राइवेट पार्ट पर वार किया । छात्राओं का आरोप है कि एक महिला पुलिसकर्मी ने बुर्का हटाकर बूट से हमला किया।

प्रदर्शनकारी जेबा अनहद ने कहा, ‘‘दो महीने से हम प्रदर्शन कर रहे हैं । हमसे बात करने के लिए सरकार की तरफ से कोई नहीं आया, इसलिए हम उनके पास जाना चाहते हैं ।” पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकने की कोशिश की तो उनकी धक्का-मुक्की हो गयी। कई प्रदर्शनकारी संसद की तरफ अपना मार्च जारी रखने के लिए बैरिकेड को पार कर गए।

बता दें कि संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ लंबे समय से जामिया पर धरना दे रहे छात्र सोमवार दिन में संसद तक मार्च निकाल रहे थे। लेकिन भारी पुलिस बल ने उन्हें वहीं यूनिवर्सिटी से निकलते ही होली फैमिली अस्पताल के पास रोक लिया। पुलिस का कहना था कि प्रदर्शनकारियों के पास मार्च निकालने की अनुमति नहीं थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles