nirav1
नीरव मोदी

पंजाब नेशनल बैंक में हुए 13600 करोड़ रुपए के घोटाले में रिकवरी की कोशिश में जुटी मोदी सरकार इस घोटाले की केवल 15-20 प्रतिशत राशि वसूल पाएगी। इस बात की पुष्टि खुद प्रवर्तन निदेशालय ने की है।

वर्तन निदेशालय ने स्वीकार किया है कि रिकवरी की रकम अनुमानित रकम के मुकाबले काफी कम है और यह सिर्फ 2000-3000 करोड़ तक हो सकती है। नीरव मोदी से घोटाले का 50 प्रतिशत तक रिकवर होने की उम्मीद थी, लेकिन अब उसके चांस बेहद कम हैं।

दरअसल नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की जो प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष संपत्ति जब्त की गई है, उसकी कीमत पहले बढ़ा-चढ़ाकर बतायी गई थी, लेकिन असलियत में इस सामान की कीमत अनुमानित मूल्य का 10 प्रतिशत ही है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

pnb

ऐसे मे अब प्रवर्तन एजेंसियों की उम्मीद सिर्फ भगोड़ा आर्थिक अपराध कानून (Fugitive economic offenders law) पर टिकी है। ताकि विदेश में स्थित नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की संपत्तियों को सीज कर सकें। लेकिन परेशानी ये है कि ये संपत्तियां नीरव मोदी के नाम पर नहीं है।

बता दें कि मुंबई की ब्रैंडी हाउस ब्रांच में नीरव मोदी और मेहुल चोकसी ने 13600 करोड़ रुपए का घोटाला किया और घोटाले का खुलासा होने से 1 माह पहले ही दोनों देश छोड़कर फरार हो गए।

Loading...