पीएनबी के 14000 करोड़ रुपये लेकर फरार हुए मेहुल चोकसी को भारतीय जांच एजेंसियां वापस भारत लाने की कोशिश कर रही है। इसी बीच चोकसी का बड़ा बयान आया है। उसका कहना है कि उसे बलि का बकरा बनाया जा रहा है।

उसने बताया भारत सरकार के लिए धोखाधड़ी के मामलों में अन्य आरोपियों को यूके जैसे देश से वापस लाना अंसभव साबित हो रहा है। ऐसे में वह एक आसान शिकार है। चोकसी ने कहा है कि उसे विश्वास था कि एंटीगुआ की सरकार अपने नागरिकों की रक्षा करती है।

चोकसी ने कहा कि मुझे बलि का बकरा बनाया जा रहा है और किसी गड़बड़ी के लिए बैंक भी बराबर जिम्मेदार है। चोकसी ने कहा कि जो घोटाले की बात हो रही है उसके बारे में पूरी वित्तीय जानकारी नहीं हैं क्योंकि उसके अधिकारी ही ऐसे मामले संभालते रहे हैं।

pnb

चोकसी ने कहा कि पीएनबी से उसका दो दशक पुराना साथ रहा है। उसने कहा,’मेरा सबकुछ जब्त कर लिया गया है और मेरे पास देने के लिए कुछ बचा नहीं, वो मेरी संपत्ति बेचकर जिसे पैसा देना चाहें, दे सकते हैं क्योंकि मैं इस हालत में नहीं हूं कि कोई सेटलमेंट की बात करूं।’

बता दें कि चोकसी ने एंटीगुआ का पासपोर्ट हासिल किया हुआ है।  1.3 करोड़ रुपए एंटीगुआ के नेशनल डेवलेपमेंट फंड में देने के बाद कोई भी व्यक्ति वहां का नागरिक बन सकता है।  एंटीगुआ के पासपोर्ट पर 132 देशों की यात्रा की जा सकती है।