amban

amban

12000 हजार करोड़ की पीएनबी धोखाधड़ी के तार अब अंबानी परिवार से जुड़ रहे है. इस मामले में अब सीबीआई ने मुकेश अंबानी के चचेरे भाई और नीरव मोदी की कंपनी फायरस्टार के चीफ फाइनैंशल ऑफिसर विपुल अंबानी समेत 5 लोगों को गिरफ्तार किया है.

विपुल दिवंगत धीरूभाई अंबानी के छोटे भाई नाटूभाई अंबानी के बेटे हैं. वह 2014 से ही नीरव की कंपनी फायरस्टार में सीएफओ के पद पर हैं. अंबानी को कार्यपालक सहायक कविता मानकीकर तथा वरिष्ठ कार्यपालक अधिकारी अर्जुन पाटिल के साथ गिरफ्तार किया गया है. यहां बता दें कि कविता धीरूर भाई अंबामी की भतीजी हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

साथ ही मंगलवार रात को सीबीआई ने पीएनबी के एक और जनरल मैनेजर को गिरफ्तार किया. राजेश जिंदल 2009 से 2011 के बीच पीएनबी की मुंबई स्थित ब्रैडी हाउस ब्रांच के प्रमुख रहे हैं. चीफ विजिलेंस कमिश्नर ने पंजाब नेशनल बैंक के सीएमडी सुनील मेहता से भी पूछताछ की. वित्त मंत्रालय के एडिशनल सेक्रेटरी रवि मित्तल भी इस पूछताछ के सिलसिले में सीवीसी ऑफिस पहुंचे.

सोमवार को सीबीआई ने पीएनबी की मुंबई के ब्रैंडी हाउस ब्रांच को सील कर तीन अधिकारियों को गिरफ्तार किया था. ब्रैंडी हाउस ब्रांच से सीबीआई ने मुख्य प्रबंधक बेच्चू तिवारी, यशवंत जोशी और प्रफुल्ल सावंत को गिरफ्तार किया था. बेच्चू तिवारी पीएनबी की विदेशी मुद्रा सेवा विभाग के मुख्य प्रबंधक हैं. यशवंत जोशी भी इसी विभाग में स्केल-1 ऑफिसर तथा प्रफुल्ल सावंत इसी विभाग में सेल्स मैनेजर हैं.

हालांकि मामले के दो मुख्य आरोपी नीरव मोदी तथा मेहुल चोकसी देश छोड़ कर जा चुके हैं. साथ ही वे लोन की राशि को भी लौटाने से साफ़ इंकार कर चुके है.

Loading...