प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को विवादित सिटीजनशिप बिल पर कहा कि पड़ोसी देशों में उत्पीड़न का शिकार हो रहे लोगों को भारतीय नागरिकता देने से बेहतर कल सुनिश्चित होगा।

उन्होंने सिटीजन अमेंडमेंट बिल के केंद्रीय कैबिनेट से मंजूरी के संदर्भ पर कहा कि पड़ोसी देशों से आए सैकड़ों परिवार जिनकों ‘मां भारती’ में आस्था थी जब इनकी नागरिकता का रास्ता खुलेगा तो उससे उनका बेहरत भविष्य सुनिश्चित होगा। पीएम ने कहा कि बीजेपी सरकार वादों की नहीं प्रदर्शन की राजनीति करती है।

हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट में अपने भाषण के दौरान मोदी ने कहा कि अयोध्या फैसले के बाद देश के लोगों ने सभी आशंकाओं को गलत साबित कर दिया। उन्होंने कहा कि हमें याद रखना होगा कि राम जन्मभूमि का फैसला आने से पहले न जाने क्या-क्या आशंकाएं जताई जा रहीं थी। सुबह फैसला आया और शाम होते-होते देश के लोगों ने सारी आशंकाओं को गलत साबित कर दिया। इसके पीछे का भाव बेहतर कल का भाव था।

बता दें कि इस बिल में पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से शरणार्थी के तौर पर आए उन गैर मुसलमानों को नागरिकता प्रदान करने का प्रावधान है जिन्हें धार्मिक उत्पीड़न का सामना करना पड़ा हो।

कार्यक्रम में उन्होंने आगे कहा कि ‘आज भारत पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर इकॉनमी बनाने के लिए जुटा हुआ है। ये लक्ष्य अर्थव्यवस्था के साथ-साथ 130 करोड़ भारतीयों की औसत आय, उनकी इज ऑफ लिविंग और उनके बेहतर कल से जुड़ा हुआ है।’

पीएम ने घोषणा की कि बैंकिंग सेक्टर के तनाव को दूर किया जा रहा है। छोटे बैंकों की जगह बड़े और मजूबत बैंकों पर फोकस किया जा रहा है और बैंकिंग सेक्टर पहले से बेहतर हुआ है। अगर कोई बैंकर निर्णय लेने में डरेगा तो देश कैसे आगे बढ़ेगा। ऐसे बैंकरों का सरकार ध्यान रखेगी। कई ऐसे फैसले हैं जो अतीत की विरासत हैं पर नए भारत की खातिर उन्हें टाला नहीं जा सकता, उनसे बचा नहीं जा सकता।’

उन्होंने आगे कहा ‘गवर्नेंस इंफ्रास्ट्रक्चर में जो सुधार किया जा रहा है वह सिर्फ 5 या 10 वर्षों के लिए नहीं है, ये सिर्फ हमारी सरकार तक सीमित नहीं है। ये लंबे अर्से तक देश के गवर्नेंस पर प्रभाव पैदा करने वाला है। इसी सोच और इसी अप्रोच के साथ हम बेहतर कल के लिए काम कर रहे हैं।’

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन