प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर कहा कि मुस्लिम बहनों के साथ न्याय होना चाहिए. मुस्लिम समुदाय की और इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि अगर कोई सामाजिक बुराई है तो समाज को जागना चाहिए और न्याय प्रदान करने की दिशा में प्रयास करना चाहिए.

भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इस मुद्दे को लेकर मुस्लिम समुदाय में संघर्ष नहीं होना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘‘वह केवल सामाजिक न्याय की बात कर रहे हैं.’’ उन्होंने कहा कि हमारी मुस्लिम बहनों को न्याय मिलना चाहिए. उनके साथ अन्याय नहीं होना चाहिए. किसी का शोषण नहीं होना चाहिए.

वहीँ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा कि हम उनके बीच संघर्ष पैदा नहीं करना चाहते. हम नहीं चाहते कि इस मुद्दे को लेकर मुस्लिम समुदाय के भीतर संघर्ष की स्थिति बने. हमें समाज को जागृत करना है और उन्हें न्याय दिलाने की दिशा में प्रयाय करना है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

यह पूछे जाने पर कि क्या प्रधानमंत्री के भाषण के दौरान विपक्ष की ओर से ईवीएम के विरोध का मुद्दा सामने आया, गडकरी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने पार्टी कार्यकर्ताओं से इन ‘मनगढंत’ मुद्दों पर ध्यान नहीं देने को कहा.

Loading...