प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने नियमित रेडियो संबोधन ‘मन की बात’ में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के गुरमीत राम रहीम को दोषी करार दिए जाने के बाद हुई हिंसा को लेकर अपनी चुप्पी तोड़ी.

उन्होंने कहा कि कानून हाथ में लेने वाले और हिंसा की राह पर चलने वालों को बख्शा नहीं जाएगा. कानून के तहत दोषियों को सजा मिलेगी. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘एक तरफ देश उत्सवों में डूबा हुआ है और दूसरी तरफ से हिन्दुस्तान के किसी कोने से जब हिंसा की खबरें आती हैं तो देश को चिंता होना स्वाभाविक है.

उन्होंने कहा, ‘हमारा देश बुद्ध और गांधी का देश है, देश की एकता के लिए जी-जान लगा देने वाले सरदार पटेल का देश है. सदियों से हमारे पूर्वजों ने सार्वजनिक जीवन-मूल्यों को, अहिंसा को स्वीकार किया हुआ है.’  उन्होंने कहा, ‘अहिंसा परमो धर्म: हम बचपन से सुनते आएं हैं. मैंने लाल किले से भी कहा था कि आस्था के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं होगी.’

इसी के साथ उन्होंने मुसलमानों की भी तारीफ़ की और कहा की  ‘गुजरात में बीते दिनों बाढ़ आई. लेकिन बाढ़ का पानी जब चला गया तो वहां हालात और भी खराब हो गए. लेकिन मुस्लिम भाईयों ने इस दौरान बहुत सराहनीय कार्य किया. गुजरात में जमियत उलेमा ए हिंद के लोगों ने गुजरात के 22 मंदिर की साफ सफाई की. उन्होंने मस्जिदों को भी साफ किया’

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?