arogya

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी महत्वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (आयुष्मान भारत) का शुभारंभ कर दिया है। पीएम मोदी ने रविवार (23 सितंबर) को झारखंड की राजधानी रांची के प्रभात तारा मैदान में केंद्र के महत्वाकांक्षी प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना आयुष्मान भारत (राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन) को लॉंच किया।

इस योजना के तहत सरकार का देश के 10 करोड़ से अधिक गरीब परिवारों को पांच लाख रुपए प्रति परिवार स्वास्थ्य बीमा सुरक्षा मुहैया कराने का लक्ष्य है। सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना के मुताबिक, ग्रामीण इलाके के 8.03 करोड़ और शहरी इलाके के 2.33 करोड़ गरीब परिवारों को इससे लाभ होगा। लगभग 50 करोड़ लोग इस योजना के दायरे में आएंगे।

लाभार्थी परिवार पैनल में शामिल सरकारी या निजी अस्पताल में प्रति साल 5 लाख रुपये तक का कैशलेस इलाज करा सकेंगे। इसके तहत इलाज पूरी तरह कैशलेस होगा। इस स्कीम की शुरुआत के साथ ही देश के 10,000 सरकारी और निजी अस्पतालों में गरीबों के लिए 2.65 लाख बेड की सुविधा उपलब्ध हो जाएगी। इस योजना पर होने वाले खर्च को केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर उठाएंगी।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

आयुष्मान भारत योजना के लाभ

-आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रत्येक परिवार को प्रतिवर्ष इलाज के लिए 5 लाख रुपये तक का बीमा कवर मिलेगा।

-देश में 1.5 लाख गांव में हेल्थ और वेलनेस सेंटर खुलेंगे। यहां सिर्फ बीमारी का इलाज ही नही होगा बल्कि यहां पर हेल्थ चेकअप की सुविधा भी मिलेगी।

-आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रत्येक परिवार को प्रतिवर्ष इलाज के लिए 5 लाख रुपए तक का बीमा कवर मिलेगा। इस योजना से देश के 10 करोड़ परिवारों और 50 करोड़ लोगों को फायदा होने की संभावना है।

-यह योजना राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना और सीनियर सिटीजन इंश्योरेंस स्कीम का स्थान लेगी।

-बीमा कवर के लिए उम्र की भी बाध्यता नहीं रहेगी।

-इसमें पहले से मौजूद बीमारियां भी कवर होंगी।

-ये स्कीम कैशलेस होगी और इसमे परिवार के सदस्यों और उम्र का बंधन नहीं होगा।

-योजना में रजिस्टर्ड किसी भी प्राइवेट या सरकारी अस्पताल में इलाज हो सकेगा।

फिलहाल देश के 29 राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों के 445 जिलों में यह योजना लागू होने जा रही है, क्योंकि ओडिशा और पश्चिम बंगाल जैसे कुछ राज्यों ने अभी इसे नहीं अपनाया है। 25 सितंबर को पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर यह योजना पूरी तरह लागू हो जाएगी।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का फायदा मिलेगा या नहीं, इसे आप अपने मोबाइल नंबर/राशन कार्ड नंबर, SECC नाम और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के URN के जरिये चेक कर सकते हैं। आप हेल्पलाइन पर फोन कर के भी जान सकते हैं। यहां भी आपको पता चल जाएगा कि आप इस बीमा पॉलिसी के हकदार हैं या नहीं।

Loading...