प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को बिहार में  बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण कर 500 करोड़ रुपए की तत्काल सहायता की घोषणा की है.

प्रधानमंत्री ने नुकसान के आकलन के लिए तुरंत ही एक सेंट्रल टीम भेजने का भी आश्वासन दिया. साथ ही उन्होंने पूर्णिया में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ क्षतिपूर्ति, राहत एवं पुनर्वास के कार्यों की विस्तार से समीक्षा की.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रधान मंत्री राहत कोष से प्रत्येक मृतक के परिवार को 2 लाख रुपए एवं गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को 50 हजार रुपए की दर से सहायता दी जाएगी. साथ ही बाढ़ से प्रभावित सड़कों की मरम्मत के लिए सड़क एवं परिवहन मंत्रालय को उपयुक्त कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया.

इसके अलावा आश्वासन दिया कि बाढ़ से प्रभावित विद्युत् इंफ्रास्ट्रक्चर की शीघ्र बहाली के लिए भी केन्द्र, राज्य सरकार की हर संभव मदद करेगा. उन्होंने किसानों के फसल बीमा के सम्बन्ध में क्लेम का तुरंत आंकलन करने के लिए बीमा कम्पनियां अपने पर्यवेक्षक तत्काल प्रभावित क्षेत्रों में भेजें जाने का भी निर्देश दिया.

गौरतलब है कि राज्य के 19 जिलों के 186 प्रखंडों की 1.61 करोड़ से ज्यादा की आबादी बाढ़ से प्रभावित है. बाढ़ की चपेट में आने से अब तक 418 लोगों की मौत हो चुकी है. बाढ़ की चपेट में आने से मरने वालों की संख्या प्रतिदिन बढ़ रही है.

Loading...