21 inskalvari 5

21 inskalvari 5

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरूवार को मुंबई में आईएनएस कलवरी को राष्ट्र को सौंपने के साथ ही अपने संबोधन में कहा कि कलवरी को राष्ट्र को समर्पित करना सौभाग्य की बात है.

उन्होंने कहा कि आज सवा सौ करोड़ भारतीयों के लिए गौरव से भरा हुआ महत्वपूर्ण दिवस है. मैं सभी देशवासियों को इस उपलब्धि पर बधाई देता हूं. आईएनएस कलवरी को राष्ट्र को समर्पित करना मेरे लिए सौभाग्य की बात है. मैं देश की जनता की तरफ से नौसेना का आभार व्यक्त करता हूं.

पीएम मोदी ने कहा, मैं इसे एक स्पेशल नाम से बुलाता हूं- S. A. G. A. R.- “सागर” यानि सेक्योरिटी एंड ग्रोथ फॉर ऑल इन द रीजन. उन्होंने कहा, मैं देश की जनता की तरफ से नौसेना का आभार व्यक्त करता हूं. आईएनएस कलवरी को बनाने में भारतीयों का पसीना और शाक्ति लगी है. ये मेक इन इंडिया का उत्‍तम उदाहरण है.

उन्होंने कहा, भारत में सामुद्रिक परंपरा बहुत पुरानी है. इतिहासकार बताते हैं कि लोथल के जरिए 84 देशों से व्यापार हुआ करता था. उन्होंने कहा कि हिंद महासागर ने भारत के इतिहास को गढ़ा है. अब वह भारत के वर्तमान को और मजबूती दे रहा है. हिंद महासागर सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि विश्व के लिए महत्वपूर्ण है.

इस मौके पर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, नौसेना प्रमुख सुनील लांबा, महाराष्ट्र के राज्यपाल सी विद्यासागर राव, मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस समेत कई गणमान्‍य व्‍यक्ति मौजूद थे.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें