प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने जन्मदिवस पर सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर 59 नए  लोगों को फॉलो किया है. हालांकि इस दौरान उन्होंने किसी को अनफॉलो नहीं किया है.

ध्यान रहे हाल ही में कर्नाटक में पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के बाद ट्व‍िटर पर पीएम मोदी द्वारा फॉलो किये जाने वाले कुछ लोगों ने इस हत्याकांड को जायज ठहराते हुए जश्न मनाया था. साथ ही मृत्यु के बाद भी गौरी लंकेश और उनके समर्थको को गालियाँ दी गई थी. इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, पीएम मोदी द्वारा फॉलो किये जाए वाले इन 59 नए ट्विटर हैंडल्स में से केवल 23 ही प्रमाणित हैं. अब मोदी द्वारा ट्विटर पर फॉलो किए जाने वाले लोगों की तादात 1779 से बढ़कर 1838 हो गई है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पीएम मोदी की इस हरकत की दुनिया भर में तीखी आलोचना हुई थी. अमेरिका के सबसे प्रतिष्ठित अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने आलोचना करते हुए लिखा है, ‘प्रधानमंत्री मोदी का ऐसे लोगों को गुप्त या खुले रूप में निरतंर समर्थन मिलता रहा.’ तो वहीँ न्यूयॉर्क टाइम्स वर्ल्ड ने ट्विटर पर लिखा है, ‘इस ट्वीट के बाद पीएम मोदी को क्या ऐसे लोगों को फॉलो करना चाहिए जिसमें एक पत्रकार की हत्या को कुत्ते की मौत बताया गया हो?’

न्यूयॉर्क टाइम्स खबर में लिखता है, ‘प्रधामंत्री नरेंद्र मोदी जो दुनियाभर में मशहूर हैं, ट्विटर पर ऐसे शख्स को फॉलो करते हैं जो महिला पत्रकार की हत्या को कुत्ते की मौत मरना बताता है.’ ये आपत्तिजनक ट्वीट निखिल दधिची के ट्विटर अकाउंट से किया गया. हालांकि इसे बाद में डिलीट कर दिया गया था. दधिची वहीं हैं जिन्हें पीएम मोदी फॉलो करते हैं, बल्कि घटना के बाद से भी उन्हें फॉलो किया जा रहा है.

इसके अलावा गार्जियन ने लिखा, ‘भारत की सत्तापक्ष पार्टी ने अब तक पीएम मोदी के ट्विटर अकाउंट का समर्थन किया जिसमें वो निखिल दधिची जैसे लोगों को फॉलो करते हैं. मोदी ऐसे लोगों को फॉलो करते हैं जो एक पत्रकार की मौत पर खुशी मनाते हैं.

Loading...