‘एक राष्ट्र-एक चुनाव’ पर चर्चा को लेकर पीएम मोदी ने 19 जून को बुलाई सर्वदलीय बैठक

11:05 am Published by:-Hindi News

नई दिल्ली: पीएम मोदी ने नई लोकसभा के पहले सत्र की पूर्वसंध्या पर रविवार को सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता की और ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ के मुद्दे पर और अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करने के लिए 19 जून को सभी दलों के प्रमुखों की बैठक बुलाई है।

संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने रविवार को यह जानकारी दी। सरकार द्वारा बुलाई गई एक सर्वदलीय बैठक के बाद जोशी ने कहा कि वर्ष 2022 में भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने जा रहे हैं। इसके अलावा इस साल महात्मा गांधी का 150वां जयंती वर्ष मनाया जा रहा है। इस संबंध में आयोजनों के बारे में चर्चा करने तथा जिलों से संबंधित मुद्दों पर विचार विमर्श करने के लिए भी प्रधानमंत्री मोदी ने बैठक बुलाई है।

जोशी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने सभी दलों के नेताओं से इस बात का आत्मनिरीक्षण करने का अनुरोध किया कि संसद सदस्य जन प्रतिनिधि के तौर पर लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने में सक्षम हों। 16वीं लोकसभा के अंतिम दो वर्ष बेकार चले जाने के विषय पर भी विचार करने का अनुरोध किया गया।

उल्‍लेखनीय है कि बीजेपी और पीएम मोदी जहां लोकसभा और विधनसभाओं के चुनाव एक साथ कराए जाने पर जोर देते हुए यह दलील देते रहे हैं कि इससे संसाधनों की बर्बादी को रोका जा सकेगा और राज्‍यों व केंद्र के बीच आम लोगों के हितों के लिए साथ मिलकर काम करने की भावना बढ़ेगी। वहीं विपक्ष का आरोप है कि लोकसभा व विधानसभा चुनाव साथ कराना न केवल अलोकतांत्रिक है, बल्कि यह संघीय सिद्धांतों के भी खिलाफ है। विपक्ष ने इसकी व्‍यावहारिकता पर भी सवाल उठाए हैं।

बैठक के बाद कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि जो भी विधेयक जनता के हित में हैं, हम उनके खिलाफ नहीं हैं। उन्होंने कहा कि किसानों की समस्या, बेरोजगारी और सूखे के मुद्दों पर चर्चा होनी चाहिए। आजाद ने जम्मू कश्मीर में जल्द विधानसभा चुनाव कराने की भी मांग की जहां अभी राष्ट्रपति शासन लगा है। उन्होंने कहा कि जब राज्य में लोकसभा चुनाव हो सकते हैं तो विधानसभा चुनाव क्यों नहीं। उन्होंने आरोप लगाया कि ऐसा लगता है कि केंद्र सरकार राज्यपाल के प्रशासन के माध्यम से राज्य को चलाना चाहती है।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें