ankit

ankit

नई दिल्ली : प्रेम प्रसंग में मारे गए अंकित सक्सेना के पिता ने अपने बेटे की हत्या को सांप्रदायिक रंग ने देने की अपील की है. ध्यान रहे पेशेवर फोटोग्राफर अंकित की गुरूवार की रात ख्याला इलाके में हत्या कर दी गयी थी.

23 साल के अंकित के पिता ने कहा कि मामले को तूल न दें और इसे दो सांप्रदाय से जोड़कर न देंखे. मुझे किसी सांप्रदाय से नफरत नहीं है. माहौल बिगाड़ने वाली राजनीति न करें. वहीँ अंकित की माँ ने कहा, वह केवल इंसाफ चाहती है. आरोपियों को मौत की सजा मिलनी चाहिए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पिता यशपाल ने मीडिया और राजनेताओं से अपील की है कि वे इस घटना को राजनीति और सांप्रदायिक न करें.  उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि “मेरा केवल एक ही बेटा था. अगर मुझे न्याय मिलता है, तो यह अच्छा है यदि नहीं, तो भी मुझे किसी भी समुदाय के प्रति घृणा नहीं है. मेरी ऐसी कोई सांप्रदायिक सोच नहीं है. मैं समझ नहीं पा रहा हूं कि मीडिया इस तरह से इस मुद्दे को क्यों दिखा रहा है.

उन्होंने कहा, “वे (मीडिया वाले) मुझसे प्यार से बात करते हैं लेकिन टीवी पर कुछ और दिखाते हैं. मेरे रिश्तेदार, पड़ोसी आते हैं और मुझे बताते हैं कि टीवी चैनलों पर क्या दिखाया जा रहा है. वे ‘मुस्लिम’, ‘मज़हब’ और शब्दों को घुमाते हुए प्रयोग कर रहे हैं..सभी सिर्फ कहानियां बना रहे हैं.

ध्यान रहे इस मामले को आम आदमी पार्टी से निष्कासित पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने सबसे पहले कम्युनल रंग देने की कोशिश की थी. ऑनर किलिंग के इस मामले में उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अगर अंकित का नाम अख़लाक़ हुआ होता, मेरे शहर का मालिक कल सारी रात न सोता, मौत की कीमत लाश का धर्म देखकर लगाते हैं, वो दिल्ली को ‘मुग़लिया’ अंदाज़ में चलाते हैं.