नई दिल्ली | पाकिस्तानी मूल के कनाडियाई नागरिक तारिक फ़तेह का एक कार्यक्रम ‘फ़तेह का फतवा’ आजक काफी विवादों में चल रहा है. जी न्यूज़ पर आने वाले इस कार्यक्रम में तारिक फ़तेह अपने तरीके से इस्लाम की व्याख्या करते नजर आते है. यही वजह है की अब इस कार्यक्रम के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट में एक याचिका डाली गई है. याचिकाकर्ता की मांग है की इस कार्यक्रम पर तुरंत रोक लगाई जाए.

इस याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने कल केंद्र सरकार से उनकी राय जाननी चाही. इसके अलावा कोर्ट ने चैनल को भी नोटिस जारी किया है. चीफ जस्टिस जी रोहिणी और जस्टिस संगीता ढींगरा ने इस मामले की सुनवाई करते हुए चैनल और केंद्र सरकार दोनों को नोटिस दे उनकी प्रतिक्रिया देने का आदेश दिया है. हालाँकि अभी इस कार्यक्रम पर रोक नही लगाई है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दरअसल जी न्यूज़ के शो ‘फ़तेह का फतवा’ के कई एपिसोड में काफी गर्मागर्म बहस हो चुकी है. कुछ लोगो का आरोप है की इस कार्यक्रम से उनकी धार्मिक भावनाए आहात हो रही है. दिल्ली हाई कोर्ट में डाली गयी याचिका में कहा गया की तारिक फ़तेह इस कार्यक्रम के जरिये गैर मुस्लिम और मुस्लिम समुदाय के बीच शत्रुता बढाने की कोशिश कर रहे है जिससे देश का माहौल ख़राब हो रहा है.

याचिकाकर्ता ने कोर्ट से मांग की , कि ‘फ़तेह का फतवा’ कार्यक्रम के आगामी एपिसोड पर तुरंत रोक लगाई जाये. मालूम हो की तारिक फ़तेह अपने विचारो की वजह से काफी विवादों में रहे है. उनके विचार कुछ लोगो को पसंद नही है और इसकी बानगी सोमवार को ‘रेखता’ के उर्दू कार्यक्रम में देखने को मिली. दिल्ली में आयोजित इस कार्यक्रम में जैसे ही तारिक पहुंचे, उनके खिलाफ नारे लगने लगे. जिसकी वजह से उन्हें कार्यक्रम से उलटे पाँव लौटना पड़ा. बाद में तारिक ने आरोप लगाया की वहां लोगो ने ‘मुझे मोदी का कुत्ता’ तक कहा.

Loading...