तिरुअनंतपुरम: पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के यूथ लीडर और महासचिव रऊफ शरीफ (Rauf Sherif) को तिरुअनंतपुरम एयरपोर्ट पर शनिवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने हिरासत में ले लिया। हाथरस केस मामले में शरीफ के खिलाफ ईडी मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत जांच कर रही है।

आरोप है कि रऊफ शरीफ के खाते में ओमान और कतर से दो करोड़ रुपए आए थे। इन पैसों का प्रयोग असामाजिक गतिविधियों के लिए किया जा रहा था। शरीफ से पूछताछ के लिए जांच एजेंसियों ने उसे नोटिस भी जारी किए थे लेकिन जांच एजेंसियों के नोटिसों से खुद को बचा रहा था।

बता दें कि कुछ दिन पूर्व ही पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के जयपुर में प्रदेश कार्यालय सहित देशभर के कार्यालयों व पदाधिकारियों के घरों पर ईडी ने छापेमारी कार्यवाही की थी। जिसके विरोध में पीएफ़आई ने देश भर में ईडी के खिलाफ प्रदर्शन भी किया।

पीएफआई के स्टेट प्रेसिडेंट मोहम्मद आसिफ ने ईडी की कार्रवाई को राजनीति से प्रेरित बताया। मोहम्मद आसिफ ने कहा, ‘देश मे लोकतंत्र के तीन पिलर दम तोड़ रहे हैं। हम उम्मीद करते हैं मीडिया अपना रोल बखूबी निभाएगा। 3 दिसम्बर को ईडी की कार्रवाई की हम निंदा करते हैं।

पीएफआई के स्टेट प्रेसिडेंट ने कहा कि किसान आंदोलन से ध्यान भटकाने के लिए इस तरह की कार्रवाई की जा रही है। बीजेपी सरकार उनके खिलाफ किसी भी आवाज को बर्दाश्त नहीं कर रही है। जो संगठन सरकार के खिलाफ आवाज उठा रही है उसे दबाया जा रहा है। ऐसी कार्रवाई के खिलाफ सभी को आगे आना चाहिए।

पीएफआइ का गठन 2006 में केरल में हुआ था और इसका मुख्यालय राष्ट्रीय राजधानी में है। सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया इसका राजनीतिक संगठन है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano