Monday, July 26, 2021

 

 

 

अर्नब गोस्वामी के खिलाफ SC में याचिका, लंबित कार्यवाही शुरू करने की मांग

- Advertisement -
- Advertisement -

अंग्रेजी समाचार चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ के विवादास्पद एंकर और संस्थापक अर्नब गोस्वामी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर लंबित कार्यवाही शुरू करने की मांग की गई है।

लाइव लॉ वेबसाइट के अनुसार, रिपेक खानसाल द्वारा दायर याचिका में कहा गया कि गोस्वामी ने उनके खिलाफ देश भर में दर्ज एफआईआर को रद्द करने की मांग सुप्रीम कोर्ट में दायर जिस रिट याचिका में की, उसमें उन्होंने भ्रामक बयान दिए हैं। आवेदक ने इस याचिका में गोस्वामी द्वारा किए गए दावों पर आपत्ति जताई है कि वह “एक पत्रकार और संपादक” हैं।

उन्होने याचिका में कहा, प्रसारण कर्मचारी और टीवी एंकर ” प्रेस एंड रजिस्ट्रेशन ऑफ बुक्स एक्ट 1867 ” के अनुसार “संपादक” की परिभाषा के दायरे में नहीं आते हैं और ‘वर्किंग जर्नलिस्ट’ के दायरे में भी काम करने वाले पत्रकारों और अन्य अखबारों के तहत हैं, जैसा कि कर्मचारी (सेवा की शर्तें) और विविध प्रावधान अधिनियम, 1955 में परिभाषित है।

“‘PRESS’ की परिभाषा में प्रसारण कर्मचारियों / एंकरों को पत्रकार और इलेक्ट्रॉनिक प्रसारण चैनलों की परिभाषा में लाने के लिए आज तक कोई कानून नहीं बनाया गया है। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया के दायरे में नहीं आता है।”

इन आधारों पर, आवेदक का तर्क है कि गोस्वामी ने जानबूझकर सुप्रीम कोर्ट के समक्ष हलफनामे पर झूठा दावा किया और भारतीय दंड संहिता की धारा 191,199 और 200 के तहत अपराध के अपराध को आकर्षित किया। इसलिए, याचिकाकर्ता सुप्रीम कोर्ट से रिपब्लिक टीवी एंकर के खिलाफ मुकदमा चलाने के लिए दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 340 के तहत कार्यवाही शुरू करने का आग्रह करता है।

बता दें कि, अर्नब गोस्वामी के खिलाफ महाराष्ट्र पुलिस ने हाल ही में सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है। महाराष्ट्र सरकार का आरोप है कि अर्नब गोस्वामी पुलिस को धमका रहे हैं और ऐसी स्थिति में उसे उनके दबाव और धम’कियों से सुरक्षा चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles