लोग भीड़ के हाथों मारे जा रहे, ऐसा लगता है किसी को कोई चिंता ही नहीं: सुप्रीम कोर्ट

11:41 am Published by:-Hindi News

देश में भीड़ के हाथों हो रही मौतों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि ऐसा लगता है किसी को इस बारें में कोई चिंता ही नहीं है।

न्यायमूर्ति मदन बी लोकुर और यू यू ललित की पीठ ने कहा, ‘इन दिनों सोशल मीडिया पर कई तरह की सामग्री आ रही हैं। लोगों को मारा जा रहा है और किसी को इसकी फिक्र नहीं है।’

इससे पहले 17 जुलाई को प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली एक अन्य पीठ ने कहा था कि भीड़तंत्र द्वारा भयानक कृत्यों  को देश के कानून को कुचलने नहीं दिया जा सकता।

39uh08ug bidar mob lynching 625x300 18 july 18

सुनवाई के दौरान गूगल, याहू इंडिया प्राइवेट लि., माइक्रोसॉफ्ट कॉरपोरेशन इंडिया प्राइवेट लि., फेसबुक आयरलैंड लि. और व्हाट्सएप की ओर से पेश वकील ने पीठ को बताया कि इस मामले की प्रगति रिपोर्ट दाखिल कर दी गई है। उन्होंने कहा कि इस मामले में केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का पालन नहीं किया है।

बता दें कि कोर्ट 2015 में तत्कालीन चीफ जस्टिस एचएल दत्तू को हैदराबाद के एक एनजीओ प्रज्वला से एक पत्र और एक पेन ड्राइव में मिले दो रेप के वीडियो पर सुनवाई कर रहा है।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें