index.php

index.php

श्रीनगर । जम्मू कश्मीर में सत्ताधारी पार्टी, पीडीपी के विधायक ने बेहद शर्मनाक बयान दिया है। उन्होंने आतंकियो को शहीद बताते हुए हमलवारो को अपना भाई बताया है। उनके इस बयान ने जहाँ पीडीपी को असमंजस में डाल दिया है वही सरकार में भागीदार भाजपा के लिए भी यह बेहद असहज कर देने वाली स्थिति है। हालाँकि केंद्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी ने आतंकियो को कश्मीर के विकास और शांति का दुश्मन क़रार दिया।

पीडीपी विधायक एजाज़ अहमद ने गुरुवार को मारे गए आतंकियो को लेकर एक बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा,’कश्मीर में जो मिलिटेंट मरते हैं, वे शहीद हैं। वे हमारे भाई हैं और कुछ तो नाबालिग हैं जिन्हें यह भी नहीं पता के क्या कर रहे हैं। आतंकी कश्मीरी ही हैं ऐसे में हमें उनके मारे जाने का जश्न नहीं मनाना चाहिए।’ एजाज़ ने यह बयान तब दिया है जब वह ख़ुद आतंकी हमले का शिकार हो चुके है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

एजाज़ ने आगे कहा,’ यह हमारी सामूहिक विफलता का प्रमाण है। जब हमारे सुरक्षा बल भी शहीद हो, हम दुखी महसूस करते हैं। हमें सुरक्षा जवानों के माता-पिता और आतंकियों के माता-पिता दोनों के साथ सहानुभूति रखनी चाहिए। क्योंकि कोई भी मां-बाप नहीं चाहेगा कि उसका बेटा मरे।’ बता दे की पीछले साल एजाज़ के घर पर आतंकियो ने हमला किया था। उस समय वह और उनका परिवार घर पर नही था।

एजाज़ के इस बयान के बाद घाटी में राजनीतिक घमासान शुरू हो गया। विपक्षी दलो ने एजाज़ के बयान पर सत्ताधारी पार्टी को घेरना शुरू कर दिया है। हालाँकि कल विधानसभा में मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने कहा था कि कश्मीर को जो भी मिलेगा वो इसी मुल्क से मिलेगा। वही केंद्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी ने कहा की आतंकी किसी का भाई नही हो सकता, वह केवल कश्मीरियत, विकास और शांति का दुश्मन है।

Loading...