नई दिल्ली  राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (NIA) सहित देश की अन्य प्रमुख सुरक्षा एजेंसियां अब पंजाब पुलिस के एसपी सलविंदर सिंह की जांच करने की तैयारी कर रही हैं। सिंह और उनके एक दोस्त व रसोइए का पठानकोट एयरबेस पर हमला करने वाले आतंकियों ने पिछले शुक्रवार को अपहरण कर लिया था।
पठानकोट हमला: SP सलविंदर की NIA करेगी जांचएसपी ने बताया कि आतंकियों ने उन्हें जिंदा छोड़ दिया था और इसके बाद उन्होंने पुलिस को अपने साथ हुई वारदात के विषय में जानकारी भी दी थी। उनके द्वारा दी गई जानकारियों को लेकर पहले भी जांच एजेंसियां कुछ संशय जता चुकी हैं। मंगलवार को सरकारी सूत्रों से मिली सूचना के मुताबिक, अब जांच एजेंसियां एसपी सिंह के साथ विस्तृत पूछताछ करेंगी।

जांच एजेंसी सिंह द्वारा दी गई जानकारी व उनके बयान की पुष्टि करेगी। एजेंसी यह जानने की भी कोशिश करेगी कि आखिरकार उतनी देर रात सिंह पठानकोट में उस जगह क्या कर रहे थे और उन्होंने अपने आधिकारिय पीएसओ को साथ क्यों नहीं लिया था। सूत्रों ने बताया कि सिंह से इन सब के बारे में पूरी जानकारी मांगी जाएगी। 31 दिसंबर की देर रात सिंह को उनकी आधिकारिक गाड़ी में उनके एक दोस्त व रसोइए के साथ आतंकवादियों ने अपहृ्त कर लिया था। बाद में उन्होंने सिंह को जाने दिया, लेकिन आतंकियों ने उनके दोस्त का गला काट दिया था। हालांकि सिंह के दोस्त की भी जांच बच गई थी।

आतंकियों ने सिंह और उनके रसोइए को बिना कोई नुकसान पहुंचाए छोड़ दिया था, लेकिन सिंह के दोस्त का गला काटकर फेंक गए। सिंह ने हालांकि पठानकोट पुलिस को अपने साथ हुई वारदात की जानकारी दी, लेकिन जिन पुलिस अधिकारियों को उन्होंने यह सब बताया उन्होंने इस घटना को बिल्कुल गंभीरता से नहीं लिया।

एसपी सिंह ने बताया था कि वह एक धार्मिक जगह के दर्शन के बाद 31 दिसंबर को रात में वापस लौट रहे थे। सिंह ने कहा कि उनके द्वारा अपने साथ हुई वारदात की जानकारी देते हुए उन्होंने यह भी बताया था कि उनका अपहरण करने वाले अपराधियों के पास एके-47 बंदूक थी और वह काफी संदेहजनक लग रहे थे। उनका दावा है कि उनकी सूचना के कारण ही सुरक्षा एजेंसियों को पहले से चेतावनी मिल गई और बड़े हादसे को टाला जा सका। साभार: नवभारत टाइम्स

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें








Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें