ई दिल्ली | योग गुरु बाबा रामदेव ने योग के जरिये न जाने कितने लोगो को स्वस्थ रहने के लिए प्रेरित किया. शुरुआत में उनका मकसद हर घर तक योग को पहुँचाना था , जिसमे वो काफी हद तक सफल भी रहे. सुबह उठते ही , ज्यादातर घरो में बाबा रामदेव टीवी के जरिये लोगो को योग सिखाते थे. इसके अलावा बाजारों में उनकी योग सीडी भी काफी लोकप्रिय रही. उन्होंने योग को देश के अलावा विदेशो तक भी पहुँचाया.

लेकिन योग कराते कराते बाबा रामदेव ने लोगो से स्वदेशी अपनाने की भी अपील की. इस दौरान वो लगभग हर मंच से कोल्ड ड्रिंक के विरोध में प्रचार करते दिख जाते थे. इन अपील के बाद लोगो के सामने सबसे बड़ी समस्या यह थी की वो किस स्वदेशी ब्रांड को अपने घर में जगह दे. ज्यादातर स्वदेशी ब्रांड सामान या तो खराब क्वालिटी का होता था या कुछ जरुरी सामान स्वदेशी ब्रांड बनाते ही नही थे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसी का फायदा उठाते हुए बाबा रामदेव ने पतंजली ब्रांड के जरिये स्वदेशी सामान बनाना और बेचना शुरू कर दिया. स्वदेशी अपनाने की अपील करते करते बाबा रामदेव लोगो से पतंजली के सामान अपनाने की अपील करने लगे. उनकी यह अपील रंग भी लायी. फ़िलहाल बाबा रामदेव बड़ी बड़ी मल्टीनेशनल कम्पनीयों के लिए एक खतरा बना हुए है. उनका कारोबार दिनो दिन बढ़ता ही जा रहा है. बाबा रामदेव, इस साल के अंत तक पतंजली के कारोबार को 5 हजार करोड़ रूपए तक पहुँचाना चाहते है.

अपने लक्ष्य तक पहुँचने के लिए बाबा रामदेव ने पतंजली के उत्पाद पहले बिग बाजार और फिर रिलायंस मार्किट के जरिये बेचने का फैसला किया. इसके अलावा देश भर में पतंजली स्टोर के नाम से रिटेलर चैन भी खोली जा रही है. अब रामदेव ने बड़ा कदम उठाते हुए बीएसऍफ़ के साथ भी हाथ मिलाया है. उनके साथ किये गए करार के अनुसार देशभर में बीएसऍफ़ के करीब 12 परिसरों में पतंजली के उत्पाद बेचे जायेंगे.

इसके लिए पतंजली , सभी परिसरों में पतंजली स्टोर खोलेगी. नई दिल्ली स्थिति बीएसएफ कैंप में कल इसी तरह के पहले पतंजली स्टोर का उद्घाटन किया गया. इन स्टोर पर बीएसएफ जवानों को कुछ छूट के साथ उत्पाद बेचे जायेंगे. इस तरह के पतंजली स्टोर अगरतला, टेकनपुर, गुवाहाटी, जोधपुर, सिलीगुड़ी, जालंधर, कोलकाता, जम्मू, बंगलूरू, सिलचर, अहमदाबाद, हजारीबाग और इंदौर के बीएसएफ कैंपो में भी लगाए जायेंगे.

Loading...