चेन्नई | तमिलनाडु की राजनीती में मचा घमासान फ़िलहाल रुकने का नाम नही ले रहा है. राज्य की सत्ता किसके हाथ होगी यह राज्यपाल के चेन्नई पहुँचने पर ही स्पष्ट हो सकता है. फिलहाल दोनों खेमे पन्नीरसेलवम और शशिकला , दावा कर रहे है की उनके पास संख्याबल मौजूद है. शशिकला ने कल ही 130 विधायक जुटाकर अपनी ताकत दिखाने की कोशिश की थी लेकिन आज पन्नीरसेलवम दावा कर रहे है की उनके समर्थन में 40 विधायक उनके साथ है.

मिली जानकारी के अनुसार AIADMK का सांसद प्रतिनिधिमंडल आज राष्ट्रपति से मिल मामले में हस्तक्षेप करने की मांग करेगा. प्रतिनिधिमंडल को राष्ट्रपति से मिलने के लिए शाम 6 बजे का समय दिया गया है. उधर पन्नीरसेलवम ने आज राज्यपाल से मिलने का समय माँगा है. उनसे मिलकर पन्नीरसेलवम उस स्थिति के बारे में उन्हें अवगत करायेंगे जिसमे उन्हें इस्तीफा देने के लिए मजबूर किया गया.

पन्नीरसेलवम चाहते है की राज्यपाल विधासागर राव उन्हें आगे भी सरकार चलाने की अनुमति दे. उनका दावा है की उनके समर्थन में 40 विधायक उनके साथ है. फ़िलहाल राज्यपाल चेन्नई नही लौटे है वो मुंबई से करीब डेढ़ बजे चेन्नई के लिए रवाना होंगे. दरअसल पन्नीरसेलवम शशिकला के शपथ ग्रहण को और लम्बा खींचना चाहते है. इसका कारण यह है की शशिकला के ऊपर आय से अधिक संपत्ति रखने के मामले में कुछ दिन बाद ही सुप्रीम कोर्ट फैसला सुनाने वाला है.

अगर कोर्ट उनको दोषी मानता है तो वो मुख्यमंत्री नही बन पाएगी. ऐसे में पन्नीरसेलवम का कद पार्टी में थोडा और मजबूत हो सकता है. खबर यह भी है की पार्टी का एक बड़ा धडा पन्नीरसेलवम के पक्ष में खड़ा हुआ है. करीब 1400 काउंसिल मेम्बर में से काफी सदस्य पन्नीरसेलवम के पक्ष में खड़े दिखाई दे रहे है. इसलिए इस बात की संभावना अधिक है की पार्टी दो फाड़ हो जाए. वैसे अब गेंद राज्यपाल के पाले में है, देखना होगा की वो क्या निर्णय लेते है?


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें