Friday, July 23, 2021

 

 

 

महाराष्ट्र के पालघर में दो साधु समेत 3 लोगों की मॉब लिंचिंग, 110 लोग गिरफ्तार

- Advertisement -
- Advertisement -

महाराष्ट्र के पालघर में दो साधु समेत तीन लोगों की हुई मॉब लिंचिंग की घटना के मामले में 110 लोगों को गिरफ्तार किया गया। इनमें 110 में से 101 लोगों को 30 अप्रैल तक पुलिस कस्टडी में भेजा गया है जबकि नाबालिगों को जुवेनाइल सेंटर होम में भेजा गया है।

महाराष्ट्र मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से रविवार की शाम को यह कहा गया कि पालघर घटना पर कार्रवाई की गई है और पुलिस ने दो साधु, एक ड्राईवर की मॉब लिंचिंग और पुलिसकर्मियों पर हमला करने वाले सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। महाराष्ट्र सरकार ने कहा है कि धर्म विशेष को लेकर ये हत्याएं नहीं हुई हैं। सरकार ने इस मामले को धार्मिक रंग नहीं देने की अपील की है।

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार पालघर से सूरत जा रहे तीन लोगों को रास्ते में कुछ लोगों ने रोक लिया और उन्हें गाड़ी से निकाल कर पीट-पीट कर उनकी हत्या कर दी।  भीड़ को इन पर चोर होने का शक था। ये तीनों एक व्यक्ति के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए सूरत जा रहे थे। तीनों पीड़ितों की मौत हो गई है। इनकी पहचान 70 और 35 साल के दो साधु और 30 साल के उनके ड्राइवर के तौर पर की गई है।

पूरे मामले पर महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने जानकारी दी है। अनिल देशमुख ने कहा, ”मुंबई से सूरत जाने वाले 3 लोगों की पालघर में हुई हत्याकांड में 101 लोगों को पुलिस हिरासत में लिया गया है। इस मामले में उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए गए हैं। इस घटना को विवादास्पद बनाकर समाज में दरार बनाने वालों पर भी पुलिस नजर रखेगी।”

इस मामले में प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्न फडनवीस ने “घटना की उच्च स्तरीय जांच” की मांग की। उन्होंने कहा, “सबसे शर्मनाक़ बात ये है कि पुलिस के सामने भीड़ लोगों को मारती है, पुलिस के हाथ से छीन कर मारती है। कहीं न कहीं महाराष्ट्र में क़ानून व्यवस्था लचर हो गई है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles