मध्य प्रदेश एटीएस ने बुधवार को राज्य में पाकिस्तानी जासूसों के मोड्यूल का भंडाफोड़ करते हुए आईएसआई के 11 एजेंटों को गिरफ्तार करने में सफलता पाई हैं. ये सभी कॉल सेंटर की आड़ में सेना की सीक्रेट इन्फॉर्मेशन पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई को भेजते थे.

गिरफ्तार किए गए आरोपियों में भोपाल का रहने वाला ध्रुव सक्सेना भी है. जो भोपाल जिले की भारतीय जनता युवा मौर्चा की आईटी सेल का संयोजक है. भारतीय जनता युवा मौर्चा बीजेपी का सहयोगी संगठन हैं. ध्रुव सक्सेना बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का सबसे करीबी सहयोगी बताया जा रहा हैं.

इसके अलावा उसके राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, भोपाल महापौर आलोक शर्मा, भोपाल सांसद आलोक संजर के साथ भी करीबी रिश्तें हैं.  वह कई बार इनके साथ मंच साझा कर चुका है. ध्रुव के घर पर जब एटीएस की टीम पहुंची तो वहां ताला लगा हुआ था. पूरा परिवार घर छोड़कर भाग गया है.

गुरुवार को प्रेस कांन्फ्रेंस में एटीएस चीफ संजीव शमी ने कहा कि ये लोग इंटरनेट कॉल को सेल्युलर कॉल में ट्रांसफर कर देते थे. इससे पाकिस्तान में बैठे हैंडलर्स की आइडेंटिफिकेशन नहीं हो सकती थी. आरोपियों द्वारा इस्तेमाल किए गए टेलीफोन एक्सचेंज ग्वालियर, भोपाल और जबलपुर में मिले हैं. ये लोग पैरेलल टेलीफोन एक्सचेंज चलाते थे. सभी पर देशद्रोह और इंडियन टेलीग्राफ एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है.

इन एजेंटों को पकड़ने में केंद्रीय टेलिकॉम मंत्रालय की टीईआरएम (टेलिकॉम एनफोर्समेंट रिसोर्स एंड मॉनिटरिगं) सेल ने एटीएस की मदद की है. जनवरी में यूपी एटीएस ने 11 लोगों को इसी तरह का अवैध टेलिकॉम एक्सचेंज चलाने के मामले में गिरफ्तार किया था.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें