755 1525931423 1527040305 618x347

जम्मू-कश्‍‍‍‍‍मीर में अंतराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान की और से लगातार हो रही भारी गोलाबारी में बुधवार को 5 लोगों की माैत हो गई है. इससे पिछले 24 घंटों में यहां 7 नागरिकों की मौत हो गई. इसके अलावा 5 जवानों समेत 54 लोग जख्मी भी हुए हैं.

मंगलवार को भारी गोलाबारी में सांबा जिले में दो, जम्मू जिले के आरएसपुरा में दो व कठुआ जिले के हीरानगर में एक व्यक्ति की मौत हो गई. सांबा के बैन ग्लाड़ इलाके में सुबह पाकिस्तान की ओर से दागे गए गोलों में आठ वर्षीय बच्ची कृष्ण पुत्री विजय कुमार व 37 वर्षीय शामो देवी पत्नी गोरखा की मौत हो गई.

स्थानीय लोगों का कहना है कि 1971 की जंग के बाद उन्होंने पहली बार ऐसी गोलाबारी का सामना किया है. जम्मू के एडीशनल डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट अरुण मनहास ने न्यूज एजेंसी को बताया, “अरनिया कस्बा खाली हो गया है. यहां से ज्यादातर लोग अपने रिश्तेदारों या सरकारी शिविरों में चले गए हैं.”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

8-Month-Old Baby Among 12 Killed, Nearly 60 Injured In Pak Shelling In A Week In Jammu

अरनिया में रहने वाले 71 साल के बिसनदास ने कहा, “1971 के बाद उन्होंने कभी ऐसी गोलाबारी नहीं देखी. यहां तक कि जंग के दौरान भी पाकिस्तान ने कभी हमें इस तरह निशाना नहीं बनाया, लेकिन अब वो हम पर मोर्टार दाग रहा है.”

बीएसएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सीमा से लगे सभी सेक्टरों में गोलीबारी रातभर बिना रुके जारी रही. उन्होंने बताया कि भारतीय कार्रवाई में सीमा पार स्थित कई बंकर भी क्षतिग्रस्त हो गए, जिसमें कई पाकिस्तानी रेंजर्स भी हताहत हुए हैं.

इस मामले में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, पड़ोसी देश शांति नहीं चाहता है. हम गोली चलने पर उचित जवाब देंगे. गोली चलने पर हमारे जवानों को पता है कि उन्हें क्या करना है. जवाबी कार्रवाई पर जवानों से कोई कुछ नहीं पूछेगा. पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है.

Loading...