हार्दिक पटेल का मोदी सरकार पर हमला – सिर्फ चीनी बंद करने से पाक कमजोर नहीं हो जाएगा

11:53 am Published by:-Hindi News

गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने पुलवामा अटैक को लेकर मोदी सरकार को निशाने पर लिया है। उन्होने कहा कि सिर्फ चीनी बंद करने से पाकिस्तान कमजोर नहीं हो जाएगा। उन्होने ये भी दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब नहीं देंगे।

पटेल ने संवाददाता सम्मेलन में कहा ‘मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि मोदी जी पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब नहीं देंगे, क्योंकि उनकी सोच, उनकी नीति और उनके सिद्धांतों में काफी फर्क है।’ उन्होंने पुलवामा हमले के पीछे साजिश की तरफ इशारा करते हुए कहा ‘सुरक्षा एजेंसियों ने बार-बार कहा था कि जम्मू-कश्मीर में कोई बड़ी वारदात हो सकती है, तो फिर सीआरपीएफ के जवानों को सड़क मार्ग से भेजने का नाटक क्यों हुआ?’

पटेल ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने सीआरपीएफ के जवानों को मिलने वाली पेंशन बंद कर दी। सीआरपीएफ के जवानों को शहीद का दर्जा नहीं मिलता। उसे अर्द्धसैनिक बल की जगह पूर्ण सैनिक बल का दर्जा मिलना चाहिये।

हार्दिक ने कहा कि हमारे देश को खुद ही इतना मजबूत होना चा‌हिए पाकिस्तान कोई हिमाकत न कर सके। सिर्फ 300 किलो चीनी देना बंद करने से पाकिस्तान कमजोर नहीं होने वाला। सरकार को देश की सुरक्षा के लिए सख्त कार्रवाई करनीं चाहिए। #HardikPatel #HardikPatelinSultanpur

Amar Ujala Lucknow ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಬುಧವಾರ, ಫೆಬ್ರವರಿ 20, 2019

हार्दिक पटेल ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को एक बार फिर निशाने पर लिया। उन्होंने सवाल किया, कहा- कानूनी रुप से अमित शाह पर कितने केस चल रहे हैं? फिर स्वयं ही जवाब देकर बताया कि जस्टिस लोइया, हरेंद्र पांडिया, वंडजारा, और एक लड़की की जासूसी के मामले में जिस पर दर्ज हों, वो गुंडा नही तो क्या है? अगर ऐसे व्यक्ति को गुंडा कहना गलत बात है तो ये गलत बात मैं बार-बार कह रहा हूं कि वो गुंडा है।

मीडिया ने सवाल किया कि राष्ट्रीय पार्टी के अध्यक्ष को गुंडा कहना ठीक है? तो हार्दिक पटेल ने कहा कि, अमित शाह भगवान राम तो नहीं है न। मैंने भगवान राम को गाली नहीं दी है। जो माता सीता को गाली देकर भाजपा में चला जाए, उसको गाली ही देनी चाहिए। भाजपा अगर देश भक्त पार्टी है तो यहां 40 जवान शहीद हो गए और 200 से ज्यादा भाजपा के विधायक हैं, एक भी विधायक ने अपनी तनख्वाह जवान को दे दी?

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें