केंद्रिय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) के पूर्व अध्यक्ष पहलाज निहलानी ने खुद को पद से हटाने के लिए केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी को जिम्मेदार बताया है.

यू टयूब चैनल लहरें टीवी (Lehren TV) को दिए एक इंटरव्यू में पहलाज निहालनी ने कहा कि उन्हें इंदु सरकार को बिना किसी कट्स के पास किये जाने का आदेश दिया गया था. जिसकी अवहेलना करने पर उन्हें ये सज़ा मिली. उन्होंने कहा कि इंदु सरकार को बिना किसी कट्स के पास किया जाए. इस फिल्म को मिले कट्स से वे नाराज थीं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पहलाज ने बताया, मैंने सेंसर बोर्ड के नियमानुसार काम करते हुए इस फिल्म को रिवाइजिंग कमेटी में भेज दिया. इंदु सरकार को एपीलेट ट्रिब्यूनल से पास किया गया. इसके बाद स्मृति ईरानी मुझे हटाने का फैसला कर चुकी थीं. साथ ही उन्होंने कई बड़े खुलासे भी किये.

उन्होंने बताया, सलमान खान की फिल्म ‘बजरंगी भाईजान’ को ईद पर रिलीज होने से रोकने के लिए उन पर केंद्र की और से भारी दबाव था. साथ ही अनुराग कश्यप की ‘उड़ता पंजाब’ को मंत्रालय के कहने पर रिलीज से रोका गया था.

पहलाज निहालानी ने कहा कि, स्मृति ईरानी जिस किसी भी मंत्रालय में गई हैं उन्होंने अपना प्रेजेंस जताने की कोशिश की है, उन्होंने हर जगह डोमिनेट करने की कोशिश की है. अब यहां तो सिर्फ एक मैं ही था जो मीडिया में बना हुआ था और उसे मुझे गिराने में कितना टाइम लगेगा.

Loading...