ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तिहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष एवं लोक सभा सदस्य असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि मोदी जी ने अपने भाषण में इस तथ्य का उल्लेख क्यों नहीं किया कि मुसलमान भी शिवाजी की सेना का हिस्सा थे.

ये बयान असदुद्दीन ओवैसी ने महाराष्ट्र प्रान्त के मुंबई नगर निकाय (बीएमसी) चुनाव के लिए अपनी पार्टी के अभियान का आगाज करने के दौरान दिया. इस बात पर ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की खिंचाई की.

ओवैसी ने अपने भाषण में कहा कि “शिवाजी की स्मारक बनवाने के लिए 3,600 करोड़ रुपये से अधिक का खर्च आ रहा हैं, वे विरोध नहीं कर रहे हैं लेकिन जब प्रधानमंत्री शिवाजी के महान कामों के बारे में चर्चा कर रहे थे तो शिवाजी की सेना का हिस्सा रहे मुसलमानों का उन्होंने कोई उल्लेख नहीं किया.”

नागपाड़ा में एक रैली को संबोधित करते हुए ओवैसी बोले कि “शिवाजी लोगों से प्यार करते थे वो कतई किसानों की एक इंच जमीन को नहीं लेते, शिवाजी यदि आज जीवित होते तो क्या उनके नाम पर जो पैसे बर्बाद किये जा रहे हैं, वो ऐसा करने देते.”

असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन पर प्रहार करते हुए कहा कि यह केवल “सस्ती लोकप्रियता के लिए” पाने के लिए दिया गया सन्देश था. मोदी ने गर्भवती महिलाओं को 6 हज़ार रुपए देने की बात कही है जबकि साल 2013 में संसद खाद्य सुरक्षा कानून पारित किया गया था जिसमें उल्लेख है कि हर गर्भवती महिला को 6000 रुपये दिए जायेंगे. उन्होंने कहा कि मोदी ने साल 2022 तक 20 मिलियन घरों का निर्माण करने का वादा किया था, लेकिन अभी तक मात्र 6716 मकान का निर्माण किया गया है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें